आपका डोरस्टेप बैंकिंग एजेंट असली है नकली, इन खास बातों से करें पहचान

 लगभग सभी बैंक आजकल डोरस्टेप बैंकिंग की सुविधा दे रहे हैं. आपको इसके लिए कुछ शुल्क चुकाना होगा. बैंक का एजेंट खुद आपके घर आएगा और आपका काम कर जाएगा. इसके लिए आपको बैंक की शाखा में जाने की जरूरत नहीं. कोविड को देखते हुए यह सुविधा शुरू की गई है. बैंकों ने एक समूह बनाकर एकसाथ यह सुविधा शुरू की है. इन एजेंट को डोरस्टेप बैंकिंग एजेंट या DSB एजेंट का नाम दिया गया है. कोई भी बैकिंग काम शुरू करने से पहले अपने एजेंट के बारे में जरूर छानबीन कर लेनी चाहिए. इससे किसी बड़े धोखे से बचा जा सकता है.

यह सलाह इसलिए दी जाती है क्योंकि जो एजेंट आपके घर आएगा, उसे अपनी सभी जानकारी देनी होगी. ऐसे समय में जब बैंकिंग फ्रॉड से बचने की सलाह रिजर्व बैंक सहित सभी बैंक और एजेंसियां दे रही हैं, आपका भी दायित्व बनता है कि डोरस्टेप बैंकिंग एजेंट की छानबीन करने के बाद ही कोई काम कराएं. यह काम बहुत आसान है और इसके लिए बस कुछ औपचारिकताएं पूरी करनी होती हैं.

यूनिफॉर्म-बैज भी देख लें

सबसे पहले तो उस एजेंट का यूनिफॉर्म देखना चाहिए जिस पर बैंक का बैज या लोगो लगा होगा. आप जिस बैंक के ग्राहक हैं, उसी बैंक का लोगो या बैज एजेंट ने लगाया होगा. आप कह सकते हैं कि नकली बैज या वर्दी या लोगो बनवाना बहुत आसान है और इसके जरिये आसानी से फर्जीवाड़ा किया जा सकता है. बात सही है. इसलिए अतिरिक्त जांच-पड़ताल की सलाह दी जाती है. आप चाहें तो अपने एजेंट की जांच उस बैंक के वेब पोर्टल या मोबाइल ऐप से भी कर सकते हैं.

पोर्टल और मोबाइल ऐप पर एजेंट की तस्वीर और जानकारी दी जाती है. आजकल बैंक यह काम रिलेशनशिप ऑफिसर बनाकर भी कर रहे हैं. आप जैसे ही मोबाइल ऐप खोलेंगे, रिलेशनशिप ऑफिसर या मैनेजर के बारे में जानकारी मिल जाएगी. आप उससे भी अपने एजेंट की जानकारी ले सकते हैं.

इस कोड से करें जांच

एजेंट जब आपके घर जाएगा, उससे पहले आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक मैसेज बैंक की तरफ से भेजा जाता है. इस मैसेज में एजेंट के बारे में जानकारी दी गई रहती है. मैसेज में दी गई जानकारी के आधार पर एजेंट की पहचान कर सकते हैं. इसके अलावा, एजेंट जब घर जाए तो उसका पहचान पत्र मांगे और उसे ठीक से चेक करें.

यह काम सबसे जरूरी है क्योंकि कोई भी एजेंट बैंक के किसी आधिकारिक पहचान पत्र के बिना अपनी सेवा नहीं दे सकता. एजेंट जो भी सेवा देगा, उसके बारे में एक वन टाइम ऑथराइजेशन कोड आपके मोबाइल फोन पर मिलेगा. इस कोड का मिलान एजेंट से करना चाहिए. आपकी डोरस्टेप बैंकिंग सेवा तभी शुरू होगी जब आप यह कोड अपने एजेंट को देंगे.

कैसे होता है काम

यह सेवा लगभग सभी बैंक दे रहे हैं. इस सुविधा के जरिये ग्राहक कैश जमा और निकासी कर सकते हैं. चेकबुक पा सकते हैं, और भी कागजी काम घर बैठे कर सकते हैं. पंजाब नेशनल बैंक ने डोरस्टेप बैंकिंग के तहत निकासी और जमा की न्यूनतम सीमा 1,000 रुपये, जबकि अधिकतम सीमा 10,000 रुपये रखी है. AePS (आधार सक्षम भुगतान प्रणाली) या डेबिट कार्ड के जरिये इसका लाभ ले सकते हैं.

इसके लिए आपको स्वयं मोबाइल या लैपटॉप/कंप्यूटर के माध्यम से मोबाइल ओटीपी के माध्यम से डोरस्टेप बैंकिंग ऐप में रजिस्टर होना पड़ेगा. आपको डोरस्टेप बैंकिंग ऐप में लॉगइन करना होगा. फिर अपने बैंक का चयन करें और अपना खाता नंबर और पिन डालें. वेरिफिकेशन के बाद आपके मोबाइल नंबर पर ओटीपी जाएगा. इसे डालकर सब्मिट करना होगा. अब ऐप पर आपको बैंक का नाम, अकाउंट नंबर, ब्रांच का नाम वगैरह दिखने लगता है. एजेंट का फोटो भी दिखेगा.