Canara Bank ने अब इस काम के लिए शुरू की अलग ऐप, ग्राहकों को नहीं जाना होगा बैंक

 कैनरा बैंक ने अपने ग्राहकों के लिए नई सर्विस शुरू की है. इस नई सर्विस के इस्तेमाल के बाद उन्हें बैंक जाने की आवश्यकता नहीं होगी और आप घर बैठे ही बैंक का काम कर सकते हैं. बैंक ने ग्राहकों को पासबुक प्रिंट करवाने के लिए बैंक जाने की मुसीबत दिलाने की कोशिश की है और अब ये काम घर बैठे ही हो सकता है. दरअसल, बैंक ने अपने ग्राहकों के लिए एक नई ऐप्लीकेशन शुरू की है, जिसके जरिए पासबुक और अकाउंट स्टेटमेंट से जुड़े काम आसानी से किए जा सकते हैं.

ऐसे में जानते हैं कि केनरा बैंक की नई एप्लीकेशन में क्या क्या फीचर्स हैं और इसे किस तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है. जानते हैं केनरा बैंक की शानदार ऐप्लीकेशन के बारे में, जिससे आपका काम काफी आसान होने वाला है…

नई एप्लीकेशन में क्या है खास?

केनरा बैंक की इस ऐप्लीकेशन का नाम Canara e-Passbook है. इस ऐप्लीकेशन की खास बात ये है कि यह यूजर फ्रेंडली है और आप बिना किसी ज्यादा परेशानी के इसे इस्तेमाल कर सकते हैं. आप एक ओटीपी के जरिए इसमें रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. इसके जरिए आप सेविंग डिपॉजिट और लोन अकाउंट को ट्रै कर सकते हैं. इससे आपको रियल टाइम अपडेट मिलती रहेगी और बैंक हॉलीडे की भी जानकारी इस ऐप्लीकेशन पर रहेगी. इसके साथ ही आप जानकारी वॉट्सऐप या मेल के जरिए भेज सकते हैं, जिसके लिए खास ऑप्शन दिया गया है.

अब इस नई ऐप्लीकेशन के आने के बाद ग्राहकों को पासबुक में एंट्री करवाने के लिए बैंक नहीं जाना होगा और वो इस ऐप्लीकेशन के जरिए ऐसा कर सकेंगे. इससे आप जरूरत के हिसाब से डेट सेलेक्ट कर सकते हैं और उसका स्टेटमेंट डाउनलोड कर सकते हैं और जहां चाहें वहां शेयर भी कर सकते हैं.

आईएफएससी कोड में हुआ है बदलाव

हाल ही में सिंडिकेंट बैंक का केनरा बैंक में विलय किया गया है. इसके बाद सिंडीकेंट बैंक के ग्राहकों के IFSC CODE बदल गए हैं. आईएफएससी कोड में बदलाव हुए तो काफी टाइम हो गया है, लेकिन 1 जुलाई तक पुराने कोड से भी ट्रांजेक्शन हो रहा था. इसके बाद लोगों को नया आईएफएससी कोड उन सभी जगह अपडेट करना होगा, जहां से उन्हें पैसे प्राप्त होते हैं. ऐसा ना करने पर उनके अकाउंट में पैसे आना बंद हो सकते हैं.

केवाईसी का रखें ध्यान

फुल केवाईसी कराने के लिए आप आधार या बिना आधार के भी काम करा सकते हैं. अगर आधार से केवाईसी करा रहे हैं तो बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन कराना जरूरी होगा. अगर बिना आधार केवाईसी करा रहे हैं तो आपको बैंक की ब्रांच में हाथों हाथ सभी दस्तावेज जमा कराने होंगे. अगर कोई ग्राहक हाफ केवाईसी या लिमिटेज केवाईसी कराता है तो उसका खाता बंद होने की आशंका होती है.