महाराष्ट्र में भारी बारिश से मची तबाही के बाद मुंबई-कोंकण इलाके की 30 ट्रेनें रद्द, कुछ का किया गया रूट डायवर्ट

 महाराष्ट्र में भारी बारिश (Heavy Rainfall in Maharashtra) के मची तबाही के बाद जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. रायगढ़, रत्नागिरी, सातारा समेत कई इलाकों में कई लोगों की जान गई है साथ ही काफी नुक्सान भी हुआ है. राज्य में अब भी बारिश को रही है, जिसके चलते मुंबई-कोंकण क्षेत्र (Mumbai-Konkan) में कई ट्रनें रद्द कर दी गई हैं (Trains Cancelled in Maharashtra). शुक्रवार को सेंट्रल रेलवे (Central railway) ने इसकी जानकारी दी.

सेंट्रल रेलवे के मुताबिक, मुंबई/कोंकण क्षेत्र में भारी बारिश के कारण 30 ट्रेनें रद्द की गई है. इसके साथ 12 ट्रेनों के रूट डायवर्ट किए गए हैं. साथ ही 8 ट्रेनों को शॉर्ट टर्मिनेट किया गया है. मिराज-बैंगलोर स्पेशल, दादर-पंधारपुर स्पेशल, दादर-हुबली स्पेशल, मदगांव-हापा स्पेशल समेत कुल 30 ट्रेनें रद्द की गई हैं. वहीं कुछ का रूट बदला गया है, वहीं कुछ को शॉर्ट टर्मिनेट किया है.

रायगढ़ में भूस्खलन के चलते कई लोगों की गई जान

दरअसल महाराष्ट्र के रायगढ़ में भूस्खलन के चलते 38 लोगों की जान चली गई, साथ ही कई लोगों के दबे होने की आशंका है. इस घटना पर पीएम मोदी ने दुख जताते हुए शुक्रवार को मुआवजे का ऐलान किया. की घटना को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी ने मृतकों के परिजनों को पीएम रिलीफ फंड से दो-दो लाख के मुआवजे का ऐलान किया है. वहीं 50 हजार रुपये घायलों को मुआवजे के रूप में दिए जाएंगे.

भारी बारिश के चलते गिरी पहाड़ की चट्टान

रायगढ़ की घटना में अभी भी मलबा हटाया जा रहा है. आशंका है कि मलबे के नीचे 50 से ज्यादा लोग दबे हो सकते हैं. जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र के रायगढ़ में गुरुवार शाम को यह दुर्घटना हुई. दुर्घटना रायगढ़ के महाड के तलीये गांव की है. यहां पहाड़ी से चट्टान खिसकर लोगों के घरों पर गिर गई. बताया जा रहा है कि 32 घरों पर पहाड़ की चट्टान गिरी. चट्टान खिसकने से 38 लोगों की जान चली गई है. जिस समय यह दुर्घटना हुई उस वक्त बारिश हो रही थी, जिसके कारण ज्यादातर लोग अपने घरों में थे.