धोनी के चहेते ने 37 साल की उम्र में एक हाथ से उड़ाया छक्का, मैदान से बाहर गई गेंद, देखें Video

 वेस्ट इंडीज (West Indies) के ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो (Dwayne Bravo) 37 साल के हो चुके हैं लेकिन क्रिकेट के मैदान पर वे अभी भी धमाल मचाए हुए हैं. आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स के अहम सदस्यों में से हैं तो अभी वेस्ट इंडीज के लिए भी कमाल कर रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज के दौरान वे गेंद और बल्ले दोनों से अपनी टीम के लिए योगदान दे रहे हैं. ड्वेन ब्रावो ने पहले मुकाबले में नाबाद सात रन बनाए थे और दो ओवर में 16 रन दिए थे. लेकिन दूसरे मैच में उन्होंने अपनी बैटिंग से दिखाया कि उनका दमखम अभी भी खत्म नहीं हुआ है. उन्होंने महज 34 गेंदों में एक चौके और तीन छक्कों से नाबाद 47 रन की पारी खेली. उन्होंने चौथे विकेट के लिए 103 रन जोड़े. फिर आंद्रे रसेल के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिए 13 गेंद में 34 रन की साझेदारी की. इसके बूते वेस्ट इंडीज ने पहले खेलते हुए 196 रन का स्कोर खड़ा किया. ब्रावो ने बाद में गेंदबाजी में भी कमाल किया और तीन ओवर में 29 रन देकर डैन क्रिस्टियन के रूप में एक विकेट निकाला.

बैटिंग के दौरान ड्वेन ब्रावो ने एश्टन एगर की गेंद पर एक करारा प्रहार किया और एक हाथ से ही गेंद को छक्के के लिए भेज दिया. गेंद स्टेडियम के स्टैंड्स पर जाकर गिरी. वहां से टप्पा खाकर मैदान से बाहर चली गई. यह छक्का 91 मीटर का था. एश्टन एगर की गेंद छोटी रही थी जिस पर ब्रावो ने लेग साइड में बल्ला चलाया और गेंद आसमानी सफर तय करते हुए स्टैंड्स में जाकर गिरी. यह घटना 13वें की चौथी गेंद पर हुई. ब्रावो का शॉट देखकर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी भी दंग रह गए. गेंदबाज एश्टन एगर भी हवा में जाती गेंद को देखते ही रह गए. जिस अंदाज में अभी ब्रावो खेल रहे हैं. उसे देखकर चेन्नई सुपर किंग्स और उसके कप्तान महेंद्र सिंह धोनी काफी खुश होंगे. आईपीएल के दूसरे हाफ में उनकी यह फॉर्म सीएसके का काम आसान कर सकती है.

मैच में क्या हुआ

वहीं मैच में शिमरॉन हेटमायर के तूफानी अर्धशतक से वेस्टइंडीज ने ऑस्ट्रेलिया को 56 रन से हराकर पांच मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली. हेटमायर ने रन आउट होने से पहले 36 गेंद में चार छक्कों और दो चौकों की मदद से 61 रन की पारी खेली. उन्होंने ड्वेन ब्रावो (34 गेंद में नाबाद 47, तीन छक्के, एक चौका) के साथ चौथे विकेट के लिए उस समय 103 रन जोड़े जब टीम 59 रन पर तीन विकेट गंवाकर संकट में थी. ब्रावो ने अंतिम 2.1 ओवर में आंद्रे रसेल (आठ गेंद में नाबाद 24, दो छक्के, दो चौके) के साथ 34 रन की अटूट साझेदारी करके टीम का स्कोर चार विकेट पर 196 रन तक पहुंचाया. वेस्टइंडीज की टीम ने अंतिम 10 ओवर में 123 रन जोड़े.

ऑस्ट्रेलिया की ओर से मिचेल मार्श (54) ने लगातार दूसरे मैच में अर्धशतक जड़ा लेकिन अन्य बल्लेबाज एक बार फिर नाकाम रहे जिससे टीम 19.2 ओवर में 140 रन पर ढेर हो गई. मार्श के अलावा मोइजेस हेनरिक्स (19) और जोश फिलिपी (13) ही दोहरे अंक में पहुंच पाए. वेस्टइंडीज की ओर से लेग स्पिनर हेडन वाल्श ने 29 रन देकर तीन जबकि शेल्डन कोटरेल ने 22 रन देकर दो विकेट चटकाए.