Tokyo Olympics 2020: 14 दिन पहले खौफ में मनाया जन्‍मदिन, अब टोक्‍यो ओलिंपिक का पहला गोल्‍ड मेडल जीत रचा इतिहास

 टोक्यो ओलिंपिक का पहला गोल्ड मेडल चीन की उस खिलाड़ी ने जीता है, जिसने 10 जुलाई को अपना जन्मदिन कोरोना संक्रमण के साए बिताया था. मगर वो कहते हैं न डर के आगे जीत है, तो चीन की महिला निशानेबाज यांग कियान ने टोक्यो ओलिंपिक का पहला गोल्ड जीत इसे सही साबित भी कर दिया है. यांग कियान ने 10 मीटर एयर राइफल में शूटऑफ में रिकॉर्ड प्वाइंट के साथ गोल्ड मेडल अपने नाम किया है.

यांग कियान ने 10 मीटर एयर राइफल में शूटऑफ में रिकॉर्ड प्वाइंट के साथ गोल्ड मेडल अपने नाम किया. 10 मीटर एयर राइफल में शूटऑफ यांग कियान ने 251.8 अंक हासिल कर नया रिकॉर्ड बनाया.

इन्हें मिला सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल

यांग कियान सामने रूसी अनास्तासिया गैलाशिना 251.1 अंक और स्विट्जरलैंड की नीना क्रिस्टन 230.6 ही स्कोर पाईं. इस प्रतियोगिता में नास्तासिया गैलाशिना ने सिल्वर और नीना क्रिस्टन को ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया.

भारतीय निशानेबाजों का निशाना चूका

निशानेबाजी प्रतियोगिता में भारत का आगाज निराशाजनक रहा. शूटिंग के पहले इवेंट महिलाओं की 10 मी. एयर राइफल के क्वालिफिकेशन राउंड में भारत की इलावेनिल और अपूर्वी चंदेला का निशाना चूक गया. इन दोनों में से कोई भी भारतीय शूटर फाइनल के लिए क्वालिफाई नहीं कर सका.

अपना पहला ओलिंपिक खेल रहीं इलावेनिल 626.5 अंक बटोरकर 16वें स्थान पर रहीं. वहीं उनसे ज्यादा अनुभवी अपूर्वी 621.9 अंक हासिल कर 36वें नंबर पर रहीं. टोक्यो ओलिंपिक्स में निशानेबाजी का ये पहला इवेंट था, जिसमें भारत के मेडल जीतने की उम्मीद खत्म हो गई है.

नॉर्वे की जेनेट हेग ने क्लाविफिकेशन राउंड का नया ओलिंपिक रिकॉर्ड बनाया. उन्होंने 632.9 अंक बटोरकर टॉप पोजीशन के साथ फाइनल का टिकट कटाया.

टोक्यो ओलिंपिक का आज दूसरा दिन है. भारत और कई प्रतियोगिता में आज आगज करने वाला है. भारतीय पुरूष हॉकी टीम ने जीत के साथ शुरुआत की है.