Tokyo Olympics 2020: मीराबाई चानू के कोच का भी होगा सम्मान, IOA ने किया नकद इनाम का ऐलान

 टोक्यो ओलिंपिक खेलों (Tokyo Olympics 2020) में भारत के लिए मेडल जीतने की उम्मीदों का भार लिए सौ से ज्यादा एथलीट हिस्सा ले रहे हैं. कई साल की मेहनत के बाद इस मुकाम पर पहुंचे इन एथलीटों के पास अपना नाम इतिहास के पन्नों में लिखवाने का मौका है. वेटलिफ्टिंग में मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) ने सिल्वर मेडल जीतकर इसकी शुरुआत भी कर दी है. जाहिर तौर पर खिलाड़ियों पर उम्मीदों का भार है, लेकिन उनको यहां तक लाने वाले और मुकाबले से पहले और मुकाबले के दौरान उनके साथ जमे रहने वाले कोच भी सम्मान के हकदार हैं और यही कारण है कि भारतीय ओलिंपिक संघ (IOA) ने अब उन कोचों को भी सम्मानित करने का फैसला किया है. आईओए ने फैसला किया है कि मेडल जीतने वाले एथलीट के कोच को भी नकद इनाम दिया जाएगा.

टोक्यो ओलिंपिक 2020 से घर वापस लौटने पर मीराबाई चानू पर तो इनामों की बारिश होनी तय है. मणिपुर सरकार की ओर से उन्हें एक करोड़ रुपये मिलेंगे, जबकि आईओए की ओर से 40 लाख रुपये भी मिलेंगे. लेकिन सिर्फ मीराबाई ही नहीं, बल्कि उनके कोच विजय शर्मा को भी इस मेहनत का इनाम मिलेगा. आईओए ने ऐलान किया है कि गोल्ड मेडल जीतने वाले खिलाड़ी के कोच को 12.50 लाख रुपये, सिल्वर मेडल पर 10 लाख रुपये और ब्रॉन्ज मेडल हासिल करने वाले एथलीट के कोच को 7.50 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा.

मेडल जीतने वाले कोच होंगे सम्मानित

समाचार एजेंसी एएनआई ने IOA के महासचिव राजीव मेहता के हवाले से बताया कि खिलाड़ियों को तैयार करने वाले कोचों को भी कैश इनाम से सम्मानित किया जाएगा. उन्होंने कहा, “वो कोच, जिन्होंने खिलाड़ियों को ट्रेनिंग दी है और उनके साथ मौजूद हैं, उन्हें भी नकद इनाम दिया जाएगा. ये उनका हौसला बढ़ाने में मदद करेगा. मीराबाई के कोच विजय शर्मा को 10 लाख रुपये दिए जाएंगे.”

नेशनल फेडरशनों को भी मिलेगा बोनस

IOA ने हाल ही में मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों को कैश पुरस्कार से सम्मानित करने का ऐलान किया था. इसके तहत गोल्ड जीतने पर 75 लाख रुपये, सिल्वर पर 40 लाख और ब्रॉन्ज पर 25 लाख रुपये का इनाम देने का फैसला किया था. इनके अलावा टोक्यो में हिस्सा ले रहे हर एथलीट को 1-1 लाख रुपये देने का भी ऐलान किया गया था. वहीं मेडल जीतने वाले खेल के नेशनल फेडरेशन को भी 30-30 लाख रुपये का बोनस दिया जाएगा.