Tokyo Olympics 2020, Day 4: तलवार लेकर उतरेंगी भवानी, इन खेलों में दिखेगा भारत का दम, देखिए 26 जुलाई का पूरा शेड्यूल

 टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics) का तीसरा दिन (Day 3) भारत के लिए खट्टे मिट्ठे अनुभवों वाला रहा. अब ऐसे में सारी निगाह चौथे दिन (Day 4) के खेल पर टिक गई है. चौथे दिन भारत के कुछ खिलाड़ी मेडल की तरफ बढ़ते दिखेंगे तो वहीं कई पहली बार टोक्यो ओलिंपिक के मंच पर उतरेंगे. पहली बार उतरने वाले खिलाड़ियों में से एक भवानी देवी (Bhavani Devi) भी होंगी, जो महिलाओं के फेंसिंग (Fencing) इवेंट यानी तलवारबाजी में भारत का प्रतिनिधित्व करती दिखेंगी. इसके अलावा भारत हॉकी, बॉक्सिंग, शूटिंग, तैराकी, टेबल टेनिस, तीरंदाजी जैसे खेलों में अपनी दावेदारी पेश करेगा.

मेंस बॉक्सिंग में भारत के अमित पंघाल और आशीष कुमार अपने अभियान का आगाज चौथे दिन से करेंगे. इसके अलावा चौथे दिन बैडमिंटन में भी भारत अपनी चुनौती पेश करता दिखेगा. मेंस आर्चरी में मेडल इवेंट के मैच में भारत का मुकाबला कजाकिस्तान से होगा. ये मुकाबला भारतीय समयानुसार सुबह 6 बजे से शुरू होगा. वहीं महिला हॉकी में भी भारत की टीम अपना झंडा बुलंद करती दिखेगी.

तीसरा दिन गुजरा खट्टा मिठ्ठा, चौथे दिन पर नजर

टोक्यो ओलिंपिक में तीसरे दिन की शुरुआत भारत के लिए खराब रही थी. भारत को महिलाओं के 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में निराशा हाथ लगी. लेकिन, इसके बाद बैडमिंटन में पीवी सिंधु को पहले दौर में मिली जीत ने उम्मीद को बांधने का काम किया. लेकिन शूटिंग के दूसरे इवेंट पुरुषों के 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में भी भारत को निराशा झेलनी पड़ी. जिसे कम करने का काम किया मैरीकॉम के मुक्के ने, जिसे रिंग के अंदर बरसते देख मेडल की उम्मीद की जा सकती है. शूटिंग में भारत को चौथे दिन भी शिरकत करना है. अंगद वीर सिंह और मैराज अहमद से शूटिंग के मेंस स्कीटिंग इवेंट में चौथे दिन काफी उम्मीद होगी. ये मुकाबला सुबह साढ़े 6 बजे से शुरू होगा.

बंदूक और तलवार सबसे लगेगी मेडल की आस

चौथे दिन भी शूटिंग इवेंट होंगे. और, एक बार फिर भारत मेडल के लिए अपने निशानेबाजों की ओर देखेगा. पहले तीन दिन भारत की राइफल और बंदूक से निऱाशा ही मिली है. ऐसे में चौथे दिन किस्मत को पलटते देखना दिलचस्प रहेगा. दिलचस्पी वैसे भवानी देवी की तलवारबाजी की कला देखने में भी होगी. अपना पहला ओलिंपिक खेल रहीं भवानी देवी भरपूर कोशिश करेंगी कि वो इसे यादगार बना सकें और ये तभी होगा जब वो तलवार लेकर उतरें तो जीत के साथ लौटें.