14 रन पर गिरे 8 विकेट, फिर 8वें नंबर के बल्लेबाज ने उड़ाया विस्फोटक शतक, टीम को मिली हैरतअंगेज जीत

 क्रिकेट को अनिश्चितताओं का खेल कहा जाता है और इसमें भी टी20 क्रिकेट के बारे में तो कुछ भी कहना मुश्किल है. 24 जुलाई को एक मुकाबले के दौरान यही देखने को मिला. यहां पर एक टीम ने 14 रन पर आठ विकेट गंवा दिए थे लेकिन फिर आठवें नंबर के बल्लेबाज ने ताबड़तोड़ पारी खेलते हुए महज 47 गेंद में नाबाद शतक कूट दिया. उसने अपनी पारी में पांच चौके और आठ छक्के लगाए. इस पारी के दम पर उसकी टीम ने आगे जाकर मैच भी जीत लिया. यहां बात हो रही है बेल्जियम और ऑस्ट्रिया के मैच की. इसमें बेल्जियम ने एक बार तो 14 रन पर आठ विकेट गंवा दिए थे. लेकिन साबर जाखिल ने 47 गेंद में नाबाद 100 रन बनाते हुए टीम को आठ विकेट पर 146 रन के स्कोर तक पहुंचाया. बारिश से प्रभावित मैच में ऑस्ट्रिया की टीम 6.1 ओवर में मिले 50 रन के लक्ष्य के जवाब में 37 रन ही बना सकी और 12 रन से मैच हार गई.

इस मैच के दौरान शतक उड़ाकर साबर जाखिल ने बड़ा रिकॉर्ड बनाया. वे टी20 क्रिकेट में आठवें या इससे नंबर पर बैटिंग करते हुए शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज हैं. उनसे पहले इस पॉजिशन पर सर्वाधिक स्कोर का रिकॉर्ड श्रीलंका के इसुरु उडाना के नाम था. उन्होंने 2019 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यह कमाल किया था. वहीं पिछले 10 दिन में यह दूसरा मामला है जब किसी आठवें नंबर के बल्लेबाज ने इंटरनेशनल क्रिकेट में शतक लगाया है. पिछले दिनों ही आयरलैंड के सिम्मी सिंह ने वनडे में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ नाबाद 100 रन की पारी खेली थी. वे वनडे में आठवें नंबर पर खेलते हुए शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बने थे.

आठ बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं छू पाए

पहले बैटिंग करते हुए बेल्जियम की टीम आकिब इकबाल की बॉलिंग के आगे ढह गई. उसके टॉप ऑर्डर में कोई भी दहाई का आंकड़ा नहीं छू पाया. टॉप सात के बल्लेबाजों में सर्वोच्च स्कोर शिराज शेख का रहा जिन्होंने चार रन बनाए. बेल्जियम की बैटिंग के दौरान 10 में से आठ बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं छू पाए. ऑस्ट्रिया के आकिब इकबाल ने चार ओवर के अपने कोटे में केवल पांच रन दिए और पांच बल्लेबाजों को आउट किया. लेकिन साबर जाखिल ने उनकी मेहनत पर पानी भेर दिया. इस बल्लेबाज ने 10वें नंबर के बल्लेबाज सकलैन अली (26) के साथ नौवें विकेट के लिए 132 रन की अटूट साझेदारी की. जाखिल ने अपने 100 में 68 रन तो महज 13 गेंद में चौके-छक्कों से ही बना लिए.

मैच में बारिश ने खलल डाली और इससे ऑस्ट्रिया को जीत के लिए 6.1 ओवर में 50 रन का लक्ष्य मिला. लेकिन वह तीन विकेट खोकर 37 रन ही बना सका. इस तरह आसानी से जीता जा सकने वाला मैच उसके हाथ से निकल गया और इसकी वजह केवल एक बल्लेबाज रहा जिसका नाम साबर जाखिल है.