टीम इंडिया में आया मिस्ट्री स्पिनर, पहले कीपर था फिर बना आर्किटेक्ट, IPL में किया दिग्गजों का शिकार

 श्रीलंका (Sri Lanka) के खिलाफ टी20 सीरीज के तहत पहले मुकाबले में भारत (Indian Cricket Team) के लिए दो खिलाड़ियों ने डेब्यू किया. इसके तहत एक नाम पृथ्वी शॉ का रहा जबकि दूसरा खिलाड़ी ऐसा है जिसे तीसरी बार मौका मिलने के बाद टीम इंडिया की जर्सी पहनने का मौका मिला. पहली दो बार में चोट और फिटनेस के चलते वह डेब्यू नहीं कर पाया. इस खिलाड़ी की कहानी जोरदार है. उसने विकेटकीपर के रूप में खेलना शुरू किया था लेकिन क्रिकेट में काम बना नहीं तो पढ़ाई पर ध्यान दिया और आर्किटेक्ट बन गया. फिर दोबारा से क्रिकेट में किस्मत आजमाई. इस बार स्पिनर के रूप में उतरा और कमाल कर दिया. तमिलनाडु प्रीमियर लीग में खेलते हुए अपना जादू बिखेरा और फिर आईपीएल में चुन लिया गया. यहीं पर किए गए कमाल के दम पर उसे भारतीय टीम में चुना गया. यह खिलाड़ी है मिस्ट्री स्पिनर वरुण चक्रवर्ती.

वरुण चक्रवर्ती का जन्म कर्नाटक के बीदर में हुआ लेकिन वे तमिलनाडु के रहने वाले हैं. वरुण को बचपन से ही क्रिकेट खेलने का शौक रहा. 17 साल की उम्र तक वे विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में स्कूल, क्लब और बाकी जगहों पर खेलते रहे. लेकिन राज्य स्तर के अलग-अलग एज़ लेवल की टीमों में वरुण को जगह नहीं मिली. ऐसे में क्रिकेट छोड़ दिया. चेन्नई की एसआरएम यूनिवर्सिटी से आर्किटेक्चर में डिग्री ली. फिर इसी को करियर बना लिया और फ्रीलांस आर्किटेक्चर बन गए. फिर इस पेशे से ऊब गए तो क्रिकेट में फिर से मन लगाया. चेन्नई के एक क्लब के लिए सीम बॉलिंग ऑलराउंडर के रूप में खेलने लगे.

आईपीएल 2020 में किया कमाल

वरुण चक्रवर्ती एक चोट के बाद स्पिनर बन गए. साल 2017-18 में उन्होंने क्लब क्रिकेट में सात मैच में 31 विकेट लिए. फिर चेन्नई सुपर किंग्स के नेट बॉलर बने. तमिलनाडु प्रीमियर लीग और फिर विजय हजारे ट्रॉफी में कमाल की बॉलिंग करते हुए आईपीएल में पहुंचे. पहले पंजाब किंग्स के लिए खेले. लेकिन एक सीजन के बाद ही हट गए. फिर केकेआर ने लिए और अब उसी के लिए खेलते हैं. इसके लिए आईपीएल 2020 में 12 मैच में 14 विकेट लिए. इस दौरान कई बड़े बल्लेबाजों जैसे एमएस धोनी को आउट किया.

इस खेल के बाद ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टी20 सीरीज के लिए चुने गए. मगर चोट के चलते जा नहीं पाए. फिर मार्च में इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में भी उन्हें लिया गया मगर फिर से फिटनेस और चोट ने बाहर कर दिया. अब श्रीलंका के खिलाफ जाकर डेब्यू करने का मौका मिला. यहां अच्छा खेलने पर उन्हें टी20 वर्ल्ड कप का टिकट मिल सकता है.