देश के 5 बेस्ट पेंशन प्लान के बारे में जानिए, बस 1.5 हजार रुपये से शुरू कर सकते हैं पॉलिसी

 पेंशन प्लान या रिटायरमेंट प्लान ऐसा निवेश होता है जिसमें हम लंबे समय के लिए कुछ-कुछ पैसा इकट्ठा करते हैं ताकि बुढ़ापे का खर्च चलता रहे. इस प्लान के चलते भविष्य के खर्च की चिंता नहीं होती क्योंकि एक निश्चित अवधि के बाद हाथ में अच्छी-खासी रकम होती है. इस प्लान के अंतर्गत चाहें तो हर महीने, तिमाही, छमाही या सालाना आधार पर पेंशन पा सकते हैं. कहा जाता है कि आपके खाते में भले ही अच्छी-खासी रकम जमा हो, लेकिन कोई न कोई पेंशन प्लान जरूर लेना चाहिए.

रिटायरमेंट के बाद जब सैलरी रुक जाएगी, तब पेंशन प्लान का पैसा ही काम आएगा. इसके लिए आपको एकमुश्त बहुत पैसा लगाने की जरूरत नहीं है. नौकरी के दौरान ही हर साल कुछ-कुछ रुपये प्रीमियम के रूप में चुकाते रहें तो अंत में बड़ी राशि हाथ आ जाती है. पेंशन प्लान के बीच में ही प्लान लेने वाले व्यक्ति को एन्युटी के तौर पर रेगुलर इंटरवल पर पैसा मिलने लगता है.

बेस्ट पेंशन प्लान

पेंशन प्लान लेने से पहले यह जरूर देख लेना चाहिए कि उस पर कितना परसेंट रिटर्न मिल रहा है. policybazaar.com के मुताबिक देश में बेस्ट पेंशन प्लान में आदित्य बिरला सनलाइफ इम्पावर पेंशन प्लान aditya birla sunlife empower pension plan का नाम आता है. यह प्लान 25 साल से लेकर 70 साल का कोई भी व्यक्ति खरीद सकता है. प्लान लेने के बाद जब तक व्यक्ति की उम्र 80 साल न हो जाए, तब तक यह चलता रहता है. इसका पॉलिसी टर्म 5-30 साल का है. यानी कि इसमें 5 साल से लेकर 30 साल तक पैसे जमा कर सकते हैं. सालाना प्रीमियम के तौर पर 18 हजार या हर महीने 1.5 रुपये की बचत से यह पेंशन प्लान ले सकते हैं. इसमें कोई सम एस्योर्ड या बीमित राशि नहीं होती.

कितना देना होगा प्रीमियम

बेस्ट पेंशन प्लान में दूसरे नंबर पर एगॉन लाइफ गारंटीड इनकम एडवांटेज प्लान aegon life income advantage plan है. इस प्लान को 20-55 साल तक के लोग खरीद सकते हैं. यह प्लान 85 साल तक चलता है और इसका प्रीमियम कवरेज, उम्र और प्रीमियम चुकाने की अवधि पर निर्भर करता है. इस प्लान में 1 लाख रुपये का सम एस्योर्ड होता है. तीसरे नंबर पर एविवा नेक्स्ट पेंशन प्लान है जिसमें 42 से 60 साल तक के लोग शामिल हो सकते हैं. यह प्लान 13, 16 या 18 साल तक चलाया जा सकता है. इसमें लिमिटेड पेमेंट यानी साल में एक बार 50,000 रुपये का प्रीमियम देना होता है. चाहें तो 1.5 लाख का सिंगल पेमेंट भी कर सकते हैं. इस पेंशन प्लान में सम एस्योर्ड का लाभ नहीं मिलता.

चौथे नंबर पर बजाज लाइफ लॉन्ग गोल पेंशन स्कीम है. यह प्लान 18 साल से लेकर 65 साल तक के लोग खरीद सकते हैं. यह स्कीम पॉलिसीहोल्डर के 99 साल होने तक चलती है. इसका पॉलिसी टर्म 99 साल तक है. प्रीमिमय के तौर पर कम से कम हर साल 60,000 रुपये चुकाने होंगे. इसमें सम एस्योर्ड की सुविधा नहीं मिलती. पांचवें स्थान पर केनरा एचएसबीसी इनवेस्ट 4जी होल लाइफ प्लान है. यह प्लान 18 साल से 55 साल तक के लोग ले सकते हैं.

ऐसे जमा करें रिटायरमेंट फंड

इसे एक उदाहरण से समझ सकते हैं. मान लीजिए 42 साल के कुंदन एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं. वे शादीशुदा हैं और अपनी कंपनी में सीनियर प्रोडक्ट मैनेजर हैं. कुंदन के कोई बच्चा नहीं है और उनकी पत्नी ही एकमात्र आश्रित सदस्य या डिपेंडेंट हैं. कुंदन 60 साल की उम्र में रिटायर होना चाहते हैं. अभी वे 80,000 रुपये महीना कमाते हैं जबकि हर महीने उनका खर्च लगभग 52,000 रुपये का है. इसी में इंश्योरेंस का प्रीमियम और म्यूचुअल फंड भी शामिल है. उनके पास 6 महीने के खर्च का इमरजेंसी फंड है. आइए जानते हैं कि इस आधार पर कुंदन को रिटायरमेंट के बाद कितने रुपये की जरूरत होगी.

रिटायरमेंट के बाद कुंदन को हर महीने खुद पर खर्च करने के लिए कम से कम 32,000 रुपये की जरूरत होगी. अभी उनके रिटायर होने में 18 साल बाकी हैं और वे 87 साल तक जीने की कामना करते हैं. रिटायरमेंट के बाद एक अनुमान के मुताबिक हर महीने कुंदन के घर का खर्च 69,085 रुपये का होगा. इस हिसाब से उन्हें 2.12 करोड़ रुपये की जरूरत होगी. रिटायरमेंट बाद अगर मजे से जिंदगी चलानी है तो कुंदन को इतने रुपये का फंड तैयार करना होगा तभी उनकी जिंदगी सुरक्षित मानी जाएगी.