जिम्बाब्वे के बल्लेबाज ने उड़ाए बांग्लादेश के होश, छक्कों की बरसात कर दिखाया बैटिंग का जोश

 बांग्लादेश (Bangladesh) ने जिम्बाब्वे (Zimbabwe) को आखिरी टी20 मैच में 5 विकेट से हराकर सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली. सीरीज का आखिरी मुकाबला रोमांचक रहा, जहां जिम्बाब्वे ने पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश को 194 रनों का बड़ा लक्ष्य दिया. इसके जवाब में बांग्लादेश ने कुछ अच्छी पारियों के दम पर सिर्फ 4 गेंद शेष रहते लक्ष्य हासिल कर लिया. अब मुकाबला और सीरीज भले ही बांग्लादेश ने जीता हो, लेकिन इस मैच में दिल और शो जिम्बाब्वे के विकेटकीपर बल्लेबाज रेजिस चकाबवा (Regis Chakabva) ने जीता, जिन्होंने एक आतिशी पारी खेलकर बांग्लादेशी गेंदबाजों के होश उड़ा दिए. चकाबवा के अलावा वेसली मडवेयर ने भी तेज-तर्रार पारी खेलकर बड़ा लक्ष्य रखने में मदद की.

तीन मैचों की टी20 सीरीज 1-1 की बराबरी पर थी और सारी नजरें और नतीजे आखिरी मुकाबले पर टिके थे. हरारे में पहले बल्लेबाजी करते हुए जिम्बाब्वे ने जोरदार शुरुआत की और 6 ओवरों में ही 63 रन कूट डाले. पहला विकेट गिरने के बाद आए रेजिस चकाबवा ने इस हमले को न सिर्फ जारी रखा, बल्कि इसकी तीव्रता भी बढ़ा दी और बांग्लादेशी गेंदबाजों के लिए सिरदर्द बन गए.

चकाबवा की आंधी में उड़े बांग्लादेशी गेंदबाज

चकाबवा क्रीज पर सिर्फ 5.1 ओवरों के लिए जमे रहे और इसमें से 22 गेंदें उन्होंने ही खेली, लेकिन इन 22 गेंदों में जो तबाही उन्होंने मचाई, उसने सनसनी मचा दी. उन्होंने सिर्फ छक्कों में बात करने का फैसला किया और 6 जबरदस्त छक्के ठोककर तूफान खड़ा कर दिया. इसमें से 3 छक्के तो एक ही ओवर में लगातार 3 गेंदों में ठोके गए. अपनी 22 गेंदों की पारी में चकाबवा ने तेजी से 48 रन बनाए. हालांकि वह पहला अर्धशतक बनाने से चूक गए.

चकाबवा के अलावा वेसली ने भी ताबड़तोड़ बैटिंग की. उन्होने तास्किन अहमद के ओवर में लगातार 5 चौके ठोके. वह 36 गेंदों में 54 रन बनाकर आउट हुए, जबकि आखिरी ओवरों में रायन बर्ल ने भी ताबड़तोड 15 गेंदों में 31 रन कूट डाले और जिम्बाब्वे ने 20 ओवरों में 5 विकेट खोकर 193 रन ठोके.

सरकार और शमीम की पारियों से बांग्लादेश जीता

जवाब में बांग्लादेश ने 20 रन पर ही पहला विकेट गंवा दिया था, लेकिन शाकिब अल हसन और सौम्य सरकार ने तेजी से 50 रनों की साझेदारी की. बांग्लादेश के लिए सरकार ने बेहतरीन पारी खेलते हुए 49 गेंदों में 68 रन ठोके और टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचाया. आखिरी ओवरों में शमीम हुसैन ने अंधाधुंध बल्लेबाजी की और 6 चौके ठोक डाले. शमीम ने सिर्फ 15 गेंदों में नाबाद 31 रन उड़ाते हुए टीम को 19.2 ओवरों में लक्ष्य तक पहुंचाया और 5 विकेट से मैच के साथ सीरीज जिताई. बांग्लादेश के लिए कप्तान महमुदुल्लाह ने भी 34 रनों की अहम पारी खेली.