The Hundred: चार गेंद में तीन विकेट लेकर टीम को समेटा, धोनी के चेले को मिली करारी शिकस्‍त

 द हंड्रेड टूर्नामेंट के एक मुकाबले में मैनचेस्टर ओरिजिनल्स ने बर्मिंघम फीनिक्स पर छह विकेट से शानदार जीत हासिल की है. स्लो पिच पर मैनचेस्टर ओरिजिनल्स के गेंदबाज मैट पार्किंसन ने बर्मिंघम फीनिक्स के बल्लेबाजों को नाको चने चबवा दिए. पार्किंसन ने घातक गेंदबाजी करते हुए चार विकेट चटकाए और शानदार बॉलिंग आंकड़ा भी दर्ज किया. मैट पार्किंसन ने अपने चार विकेट के दम पर महेंद्र सिंह घोनी के साथी खिलाड़ी की कप्तानी वाली टीम बर्मिंघम फीनिक्स को पैक कर दिया. उनके झटके से बर्मिंघम की टीम ऐसी टूटी की 100 का आंकड़ा भी नहीं छू पाई और पूरी टीम 100 गेंद भी नहीं खेल सकी और 87 रन पर ढेर हो गई.

पार्किंसन ने चार गेंदों में तीन विकेट झटके. पहला विकेट झटकने के बाद पार्किंसन ने अपना कमाल 81वीं गेंद से दिखाना शुरू किया. क्रिस कूक को पार्किसन ने अपना शिकार बनाया. अगली गेंद डॉट रही. फिर 83वीं गेंद पर टॉम हेलम बिना खाता खोले ही पार्किसन को अपना विकेट दे बैठे. 84वीं गेंद पर इमरान ताहिर को पार्किसन ने एलबीडब्लू कर दिया.

चेन्नई से खेलने वाले मोइन की टीम हारी

आईपीएल में धोनी की कप्तानी वाली चन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलने वाले मोइन अली बर्मिंघम फीनिक्स के कप्तान हैं. बर्मिंघम फीनिक्स के बल्लेबाजों के फेल होने का अंदाजा आप सिर्फ इस बात से लगा लीजिए कि टीम के टॉप स्कोरर कप्तान मोइन अली रहे, जिन्होंने 15 रन बनाए. पार्किंसन ने 19 गेंदों में 9 रन देकर चार बल्लेबाजों को पवेलियन लौटाया. वहीं, केल्विन हैरिसन और कार्लोस ब्रैथवेट ने दो विकेट लिए.

ओरिजिनल्स की पहली जीत

88 रन के स्कोर का पीछा करने उतरी मैनचेस्टर ओरिजिनल्स के कप्तान जोस बटलर ने संभली हुई शुरुआत दिलाई. उनके बल्ले से 30 रन निकले. इस टूर्नामेंट में अपनी पहली जीत हासिल करने के लिए मैनचेस्टर को खास मेहनत नहीं करनी पड़ी और 27 गेंद पहले ही उन्होंने मुकाबले को अपने नाम कर लिया.

कप्तान मोईन ने कहा सब कुछ मुश्किल था

हार के बाद फीनिक्स के कप्तान मोईन ने कहा कि उनकी टीम विरोधियों को कड़ी टक्कर दे सकती थी अगर उन्होंने कुछ और रन बनाए होते. 15-20 रन और होते तो खेल दिलचस्प होता. लेकिन एक ही समय में आसान नहीं था. मुझे लगा कि स्वीप/रिवर्स स्वीप के लिए यह एक अच्छा विकेट है. बाकी सब कुछ मुश्किल था.