T20 World Cup खेलने को बेताब हैं युजवेंद्र चहल, बोले- जब भी मौका मिलेगा तो…

 भारतीय टीम में जगह बनाने के लिये कड़ी प्रतिस्पर्धा को देखते हुए लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) हर मौके का पूरा फायदा उठाना चाहते हैं ताकि वह टी20 विश्व कप से पहले टीम में अपना स्थान पक्का कर सकें. श्रीलंका के खिलाफ सीमित ओवरों की वर्तमान श्रृंखला के दौरान अच्छा प्रदर्शन करके चहल बीच में स्थगित कर दिये गये इंडियन प्रीमियर लीग में खराब प्रदर्शन से उबर गये हैं.

श्रीलंका के खिलाफ टी-20 सीरीज के पहले मुकाबले में भारतीय टीम की जीत में योगदान देने के बाद उन्होंने कहा कि टीम में बने रहने के लिए प्रदर्शन करना जरूरी है.

टीम में जगह बनाने के लिए कड़ा मुकाबला

पहले टी-20 में श्रीलंका पर 38 रन से मिली जीत के बाद चहल ने कहा कि अगर आपके पास 30 खिलाडियों का पूल है तो टीम में जगह बनाने के लिए कंपटीशन है. सभी खिलाड़ी शानदार हैं. सभी स्पिनर अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. एक स्पिनर के तौर पर आप जानते हैं कि कम से कम दो स्पिनर तैयार हैं, जिन्होंने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया है.

मैं अपने काम करता हूं फोकस

चहल ने कहा कि मैं केवल अपने लिए सोच सकता हूं और हर अवसर पर प्रदर्शन कर सकता हूं. यदि आप प्रदर्शन करते हैं, तो आपको खेलने का मौका मिलता है और यदि आप नहीं करते हैं तो चाहे मैं या कोई भी हो आप बाहर हो जाते हैं. इसलिए जब भी मेरे हाथ में गेंद होती है, मैं दूसरों के बारे में नहीं सोचता. मैं गेंद से काम पूरा करने पर फोकस करता हूं.

चहल ने ऐसे किया है खुद को तैयार

चहल ने कहा कि जब मैं नहीं खेल रहा था, तो मैंने अपने गेंदबाजी कोच के साथ काफी कड़ी मेहनत की. मैं यह जानना चाहता था कि मैंने कुछ मैचों में अच्छा प्रदर्शन क्यों नहीं किया. इसलिए मैंने लॉकडाउन के दौरान इन चीजों पर काम किया. चहल ने कहा कि मैंने एक विकेट को निशाना बनाकर गेंदबाजी की. इस दौरे पर आने से पहले मैंने खुद से कहा था कि मैं बेहतरीन प्रदर्शन कर सकता हूं.

कोविड दौरान की इस खिलाड़ी के साथ बात

चहल ने कहा कि “मैंने जिस तरह से गेंदबाजी की, मैं हमेशा उसी तरह की गेंदबाजी करता हूं, इसलिए मेरे दिमाग में कुछ भी नहीं है अगर कोई आपको छक्का मारता है, तो मैं खुद को बैक करता हूं और मैं बीच के ओवरों को नियंत्रित करता हूं. यह मेरा काम है. उन्होने कहा कि कोविड के दौरान मैंने जयंत यादव के साथ अभ्यास किया, जिनके साथ मैं बचपन से खेल रहा हूं और मैंने उन्हें गेंदबाजी की.

मिस्ट्री स्पिनर वरुण चक्रवर्ती ने रविवार को भारत के लिए डेब्यू किया. चहल ने तमिलनाडु के खिलाड़ी को सलाह दी कि वह जिस तरह से गेंदबाजी कर रहे हैं, उसी तरह से गेंदबाजी करें.