भारत-इंग्‍लैंड टेस्‍ट में बना वर्ल्‍ड रिकॉर्ड, टीम इंडिया के ओपनरों ने 203 रनों की साझेदारी कर झंडे गाड़े

 भारत और इंग्‍लैंड (India vs England) के बीच टेस्‍ट सीरीज का मजा अलग ही होता है. और जब ये सीरीज इंग्‍लैंड की जमीन पर खेली जा रही हो तो कहने ही क्‍या. विराट कोहली की अगुआई में भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) पांच मैचों की टेस्‍ट सीरीज खेलने के लिए इंग्‍लैंड में है. दोनों टीमों के बीच पहला टेस्‍ट नॉटिंघम में चार अगस्‍त से शुरू होगा. हालांकि हम जिस मुकाबले की बात करने जा रहे हैं वो है तो भारत और इंग्‍लैंड के बीच ही, लेकिन खेला काफी समय पहले था. आज ही के दिन यानी 27 जुलाई के खेल में भारत और इंग्‍लैंड के इस मैच में एक ऐसा वर्ल्‍ड रिकॉर्ड बनाया गया जो आज तक कायम है. ये रिकॉर्ड किसी टेस्‍ट मैच के किसी एक दिन में सबसे ज्‍यादा रन बनाने का था.

दरअसल, भारत और इंग्‍लैंड (India vs England) के बीच साल 1936 में मैनचेस्‍टर में 25 से 28 जुलाई तक ये मैच खेला गया. पहले दिन तो भारतीय टीम 203 रनों पर सिमट गई. सैयद वजीर अली ने 42 रन बनाए जबकि कोटार रामास्‍वामी ने 40 रनों का योगदान दिया. 33 रन विजय मर्चेंट ने बनाए. इंग्‍लैंड के लिए हेडली वेरिटी ने चार विकेट हासिल किए जबकि गबी एलन और वाल्‍टर रोबिंस ने दो-दो बल्‍लेबाजों को अपना शिकार बनाया. अब वर्ल्‍ड रिकॉर्ड बना दूसरे दिन के खेल में. इस दिन कुल 588 रन बने. इनमें से 398 रन इंग्‍लैंड ने बनाए. इनमें 94 रन जो हार्डस्‍टाफ जूनियर के बल्‍ले से निकले. वाल्‍टर रोबिंस ने 76 और हेडली वेरिटी ने नाबाद 66 रन इस स्‍कोर में जोड़े. हालांकि वॉली हैमंड ने 167 और स्‍टैन वर्थिंगटन ने 87 रन बनाए थे लेकिन एक दिन में बने 588 रनों में उनका योगदान अधिक अहम नहीं था. इंग्‍लैंड की टीम ने दूसरे दिन पहली पारी 8 विकेट खोकर 571 रनों पर घोषित की. भारत के लिए मोहम्‍मद निसार, अमर सिंह और सीके नायडू ने दो-दो विकेट लिए.

भारतीय ओपनरों का लाजवाब खेल

अब भारतीय टीम दूसरी पारी में खेलने उतरी और विजय मर्चेंट ने 114 व मुश्‍ताक अहमद ने 112 रन बनाए. दोनों ओपनरों ने पहले विकेट लिए 203 रनों की शानदार साझेदारी की. एक दिन में बने रिकॉर्ड 588 रनों में इन ओपनर्स के 190 रन का भी अहम योगदान रहा जो उन्‍होंने दूसरे दिन के खेल में बनाए थे. इन दोनों के अलावा कोटार रामास्‍वामी ने 60 रन बनाए जबकि अमर सिंह ने नाबाद 48 रनों की पारी खेली. सीके नायडू के बल्‍ले से 34 रन निकले. टीम इंडिया ने दूसरी पारी 5 विकेट खोकर 390 रनों पर घोषित की. इस तरह वर्ल्‍ड रिकॉर्ड बनने के बावजूद ये मैच ड्रॉ पर ही खत्‍म हुआ.