IND vs SL: पाकिस्तानी दिग्गज को शिखर धवन में नजर आता है महेंद्र सिंह धोनी का अक्स, तारीफ में बोली बड़ी बात

 नई दिल्ली. पाकिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज कामरान अकमल (Kamran Akmal) ने श्रीलंका के मौजूदा दौरे में भारतीय टीम (IND vs SL) का शानदार नेतृत्व करने के लिए शिखर धवन (Shikhar Dhawan) की तारीफ की. अकमल ने मैदान पर धवन के शांत व्यवहार और लीडरशिप की तुलना पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) से की. धवन की कप्तानी में भारत ने हाल ही में श्रीलंका को वनडे सीरीज में 2-1 से शिकस्त दी थी. टीम इंडिया ने जीत के इसी सिलसिले को टी20 सीरीज में भी बरकरार रखा और पहले मैच में मेजबान टीम को 38 रन से हराया था.


अकमल ने अपने नए यू-ट्यूब वीडियो में धवन की टीम का नेतृत्व करने की शैली और मैदान पर लिए उनके फैसलों की तारीफ की. पाकिस्तानी क्रिकेटर ने कहा कि उन्हें धवन में धोनी का अक्स नजर आता है. श्रीलंका के खिलाफ पहले टी20 में शिखर धवन की कप्तानी वास्तव में अच्छी थी. उन्होंने गेंदबाजी में अच्छे बदलाव किए और फील्ड प्लेसिंग भी असरदार दिखा. धवन एक अच्छे कप्तान की तरह लगते हैं. वास्तव में, मैं धवन की कप्तानी में धोनी की छाप देख सकता हूं. जिस तरह धोनी मैदान पर कूल रहते थे, धवन भी वैसे ही नजर आते हैं.


धवन ने दबाव में टीम को बिखरने ने नहीं दिया: अकमल
पाकिस्तानी विकेटकीपर ने आगे कहा कि उन्होंने(धवन) ने दबाव में बेहतरीन फैसले लिए और श्रीलंका की तेज शुरुआत के बाद भी घबराए नहीं. 38 रन से मैच जीतना, वो भी तब जब श्रीलंका ने दो ओवर में बिना विकेट खोए 20 रन बना लिए थे, यह वाकई खास है. इसका श्रेय धवन को जरूर मिलना चाहिए. यकीनन भारतीय गेंदबाजों भी शानदार थे. लेकिन धवन ने खिलाड़ियों पर धवन को हावी नहीं होने दिया. जो अच्छे कप्तान की निशानी है.

‘भारतीय टीम ने शानदार गेंदबाजी की’
अकमल ने पहले टी20 में 164 रन के स्कोर का बचाव करने वाले भारत के गेंदबाजी आक्रमण की सराहना की. मेजबान टीम ने शानदार शुरुआत की, लेकिन मध्यक्रम में बल्लेबाज अच्छा नहीं खेल पाए, जिसकी कीमत श्रीलंका को हार के रूप में चुकानी पड़ी. भारतीय उप-कप्तान भुवनेश्वर कुमार ने गेंदबाजी के दौरान अपने अनुभव का सही इस्तेमाल किया. वो विश्व स्तरीय गेंदबाज हैं. टी20 क्रिकेट में 165 रन का लक्ष्य आसानी से हासिल किया जा सकता है. लेकिन भारतीय गेंदबाजी का स्तर मैच में काफी ऊंचा रहा और श्रीलंकाई बल्लेबाज इस चुनौती को पार नहीं कर पाए.