The Hundred में जेमिमा रॉड्रिग्ज ने खेली धुंआधार पारी, 10 गेंदों ठोके 40 रन, चौके की लगा दी झड़ी

 भारतीय महिला बल्लेबाज जेमिमा रोड्रिग्स (Jemimah Rodrigues) ने द हंड्रेड टूर्नामेंट में धमाल मचा रखा है. इंग्लैंड में चल रहे क्रिकेट के नए फॉर्मेट द हंड्रेड (The Hundred) में एक बार फिर से भारतीय टीम की युवा बल्लेबाज ने धुंआधार पारी खेलकर को अपनी टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई है. नॉर्दर्न सुपरचार्जर्स वीमेन और ट्रेंट रॉकेट्स के बीच खेले गए मुकाबले में जेमिमा ने 41 गेंदों में 60 रन की धमाकेदार पारी खेली. इस मुकाबले में नॉर्दर्न सुपरचार्जर्स वीमेन ने ट्रेंट रॉकेट्स विमेन को 27 रनों से हरा दिया.

20 वर्षीय दाएं हाथ की सलामी बल्लेबाज जेमिमा ने अपनी जोड़ीदार लॉरेन विनफील्ड हिल (33) के साथ 54 गेंदों में 64 रन की साझेदारी की. जब जेमिमा 60 रनों की तूफानी पारी खेलकर आउट हुईं.

दूसरी बार दिखा धमाकेदार अंदाज

जेमिमा की टीम नॉर्दर्न सुपरचार्जर्स वीमेन का स्कोर स्कोर 89 गेंदों में 134 रन हो चुका था. सुपरचार्जर्स ने 100 गेंदों में 149/7 का स्कोर बनाया. इसके बाद लक्ष्य का पीछा करने उतरी ट्रेंट रॉकेट्स की की टीम 122 रन ही बना सकी. कप्तान नेट साइवर ने 33 रन की पारी खेली और कैथरीन ब्रंट के बल्ले से 43 रन निकले.

जेमिमा सीजन के पहले ही मुकाबले में नाबाद 92 रनों की पारी खेली थी. ट्रेंट रॉकेट्स के खिलाफ मुकाबले में रोड्रिग्स ने धीमी शुरुआत की और अपनी आधी पारी के दौरान उनका स्ट्राइक रेट 100 से कम रहा, लेकिन आखिरी में उन्होंने रफ्तार दिखाई और 41 गेंदों में 60 रन बनाकर पवेलियन लौटीं. अपनी पारी के दौरान उन्होंने 10 चौके जड़े. जब वो आउट होकर लौटीं तो उनका स्ट्राइक रेट 146 से भी अधिक था और 40 रन तो उन्होंने सिर्फ 1द गेंदों में 10 चौके की मदद से बनाए थे.

पारी को संभाला और तेजी से रन बटोरे

सुपरचार्जर्स के विनफील्ड-हिल और लौरा वोल्वार्ड्ट (3) के जल्दी आउट होने के बाद जेमिमा ने टीम की पारी को संभाला और स्कोर को आगे लेकर गईं. पारी की 77वीं डिलीवरी जेमिमा ने अपना अर्धशतक पूरा किया और फिर ताबड़तोड़ अंदाज में बैटिंग की. जीत के बाद उन्हें मैन ऑफ द मैच से नवाजा गया.

‘द हंड्रेड’ में एक साथ महिलाओं और पुरुषों के मैच आयोजित किए जा रहे हैं. इसमें कुछ शानदार मुकाबले और पारियां देखने को मिल रही हैं. इस टूर्नामेंट में भारतीय महिला टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर और स्मृति मांधना जैसी धुरंधर शामिल हैं.