टीम इंडिया के खिलाफ इस खिलाड़ी ने किया डबल धमाका, 8वें नंबर पर उतरकर ठोका शतक, फिर ले डाले 5 विकेट

 भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) विराट कोहली की अगुआई में टेस्‍ट सीरीज खेलने के लिए फिलहाल इंग्‍लैंड में है. यहां उसे जो रूट की कप्‍तानी वाली इंग्‍लैंड की टीम के खिलाफ पांच मैचों की टेस्‍ट सीरीज में हिस्‍सा लेना है. ये सीरीज चार अगस्‍त से शुरू होगी. लेकिन इस सीरीज में टीम इंडिया के सामने चुनौती वही होगी जो कई साल से चली आ रही है. यानी टेलेंडर्स को जल्‍दी आउट न करने की कमजोरी. ये वही चुनौती है जो आज के दिन यानी 12 जुलाई 1943 को जन्‍मे एक क्रिकेटर के सामने भी खुलकर जाहिर हुई थी. ये वही खिलाड़ी है जिसने भारतीय टीम के खिलाफ आठवें नंबर पर उतरकर पहले तो शतक ठोका और फिर गेंदबाजी करते हुए पहली पारी में पांच विकेट चटकाने का कारनामा भी अंजाम दिया.

दरअसल, न्‍यूजीलैंड (New Zealand Cricket Team) के ऑलराउंडर ब्रूस टेलर (Bruce Taylor) का जन्‍म 12 जुलाई 1943 को हुआ. अपने 30 टेस्‍ट मैचों के करियर में ब्रूस टेलर ने जो भी किया उसमें से सबसे यादगार लम्‍हा उनके टेस्‍ट डेब्‍यू का ही रहा जो उन्‍होंने 1964-65 में भारत के खिलाफ कलकत्‍ता में किया. इस मैच में न्‍यूजीलैंड ने पहली पारी नौ विकेट खोकर 462 रनों पर घोषित की. बर्ट सटक्लिफ ने सबसे ज्‍यादा नाबाद 151 रन बनाए जबकि ब्रूस टेलर ने आठवें नंबर पर उतरते हुए 158 गेंदों पर 105 रन बनाए. इसमें 14 चौके और तीन छक्‍के भी शामिल रहे. कप्‍तान जॉन रीड ने 82 रन बनाए. भारत के लिए रमाकांत देसाई ने 4 तो श्रीनिवास वेंकटराघवन ने तीन विकेट लिए.

ब्रूस टेलर का गेंदबाजी में भी रहा जलवा

जवाब में भारतीय टीम ने 380 रन बनाए. कप्‍तान मंसूर अली खान पटौदी ने 153 रनों की पारी खेली तो चंदू बोर्डे ने 62 रन का योगदान दिया. इंग्‍लैंड के लिए एक बार फिर डेब्‍यू कर रहे ब्रूस टेलर हीरो बनकर सामने आए. उन्‍होंने भारत के पांच बल्‍लेबाजों को पवेलियन भेजकर अपनी टीम को पहली पारी में महत्‍वपूर्ण बढ़त दिलाई. इंग्‍लैंड ने दूसरी पारी 9 विकेट पर 191 रन बनाकर घोषित की और टीम इंडिया के सामने 274 रनों का लक्ष्‍य रखा. इंग्‍लैंड के लिए दूसरी पारी में विक पोलार्ड और ग्राहम विवियन ने 43-43 रन बनाए. भारत की ओर से श्रीनिवास वेंकटराघवन ने तीन विकेट लिए. 274 रन के लक्ष्‍य के जवाब में भारतीय टीम 3 विकेट पर 92 रन बनाए और मैच ड्रॉ पर खत्‍म हुआ. हालांकि ये ड्रॉ टेस्‍ट ब्रूस टेलर के डेब्‍यू के लिए ही याद किया जाएगा. ब्रूस डेब्‍यू टेस्‍ट में शतक और पांच विकेट का कारनामा करने वाले इकलौते खिलाड़ी जो बने थे.