The Hundred में भारतीयों का जलवा, जेमिमा-हरमनप्रीत के बाद स्मृति मांधना ने भी दिखाई बल्ले की ताकत

 इंग्लैंड में खेले जा रहे द हंड्रेड टूर्नामेंट के महिलाओं के कम्पटीशन में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सदस्यों के जलवा है. हरमनप्रीत कौर और जेमिमा रॉड्रिग्स के बाद अब स्मृति मांधना ने भी अपना जलवा दिखा दिया है. सदर्न ब्रेव की टीम से खेल रही स्मृति मांधना ने अपने दूसरे मैच में शानदार बैटिंग कर टीम को जीत दिलाई. मांधना ने सिर्फ 39 गेंदों में 61 रनों की नाबाद पारी खेलते हुए टीम को बड़ी आसानी से वेल्श फायर पर जीत दिलाई. इस टूर्नामेंट में भारत की अन्य खिलाड़ी भी खेल रही हैं और उनका अबतक का प्रदर्शन कुछ इस तरह रहा है.सबसे पहले बात युवा बल्लेबाज जेमिमा रॉ़ड्रिग्स की. इंग्लैंड दौरे पर अपनी खराब फॉर्म के लिए आलोचना झेल रही जेमिमा ने अपने पहले ही मैच में तहलका मचा दिया. नॉर्दर्न सुपरचार्जर्स की ओर से खेलेते हुए जेमिमा ने सिर्फ 43 गेंदों में नाबाद 92 रनों की अंधाधुध पारी खेली. ये टूर्नामेंट का सबसे बड़ा स्कोर है. वह यहीं नहीं रुकीं और अगले ही मैच में फिर तेजी से 60 रन ठोक डाले.

इन दोनों से पहले सनसनीखेज पारी खेली हरमनप्रीत कौर ने. ओवल ओरिजिनल्स के लिए खेल रही हरमनप्रीत ने टूर्नामेंट के सबसे पहले मैच में ताबड़तोड़ 29 रन कूट डाले. फिर अगले ही मैच में उन्होंने 49 रनों की पारी खेली औऱ अपनी टीम की ओर से अकेले ही जूझती रहीं.ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा लंदन स्पिरिट की ओर से खेल रही हैं और दो मैचों में उनका प्रदर्शन मिला-जुला रहे है. पहले मैच में उन्होंने 28 रन बनाने के साथ ही 1 विकेट झटका था. फिर अगले मैच में वह सिर्फ 3 रन बना सकीं और 1 विकेट झटका.हालांकि, 5 भारतीय क्रिकेटरों में सिर्फ युवा बल्लेबाज शेफाली वर्मा के लिए अभी तक टूर्नामेंट अच्छा नहीं गुजरा है. बर्मिंघम फीनिक्स के लिए खेल रहीं शेफाली ने के स्कोर अभी तक सिर्फ 13 और 6 रन रहे हैं. निश्चित रूप से उनके पास कुछ बेहतरीन पारियां खेलने का अभी पर्याप्त वक्त है.