पोस्ट ऑफिस की बेस्ट स्कीम: हर महीने जमा करें 2000 रुपये, अंत में मिलेगा 6.31 लाख का रिटर्न

 आज हम बात कर रहे हैं पोस्ट ऑफिस में चलाई जाने वाली खास स्कीम पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी कि PPF के बारे में. इस खाते को अपने किसी भी नजदीकी डाकघर में खुलवा सकते हैं. देश का कोई भी नागरिक यह खाता खुलवा सकता है. यह स्कीम पूरी तरह से सरकार से मान्यता प्राप्त है जिसमें किसी तरह के फ्रॉड की गुंजाइश नहीं. 1 अप्रैल 2020 से सरकार इस खाते पर 7.10 परसेंट का ब्याज दे रही है. स्टेट बैंक या देश के अन्य बैंकों में चलाए जा रहे एफडी खाते या आरडी खाते से भी ज्यादा ब्याज पीपीएफ PPF पर मिलता है.

इस खाते में हर साल 500 रुपये जमा कर सकते हैं. हर साल 500 रुपये जमा कराते रहें तो यह खताा चलता रहेगा. एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक जमा करा सकते हैं. यह खाता लोअर इनकम ग्रुप के लोगों के लिए है. इसलिए अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा राशि तय है जिस पर अच्छा खाता ब्याज दिया जाता है. यह खाता जॉइंट में नहीं खोल सकते और नॉमिनी चुनने का अधिकार मिलता है. इस स्कीम में EEE टैक्स की छूट मिलती है. जमा राशि, ब्याज और रिटर्न तीनों तरह के पैसे पर कोई टैक्स नहीं लगता. जो अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किए जाते हैं, उस पर इनकम टैक्स की धारा 80C के तहत टैक्स की छूट मिलती है.

चक्रवृद्धि ब्याज का फायदा

यह खाता 15 साल में मैच्योर होता है. इस खाते में जमा पैसे पर चक्रवृद्धि ब्याज मिलता है. मान लीजिए आपने 500 रुपये जमा किए जिस पर एक साल में 30 रुपये ब्याज मिला तो अगले साल से 530 रुपये पर ब्याज की गणना होगी. पीपीएफ पर मिलने वाले फायदे को समझने के लिए एक उदाहरण देखें. मान लें कि इस खाते में आप हर महीने 500 रुपये जमा करते हैं. यह 500 रुपये की जमा राशि 15 साल तक चलेगी और मैच्योरिटी पर 90,000 रुपये बनेगा. इस पर आपको 67,784 रुपये का ब्याज बनेगा. इस हिसाब से 15 साल बाद कुल राशि 1,57,784 रुपये आपके हाथों में आएगी. यानी 90 हजार रुपये जमा करने पर आपको 1.5 लाख रुपये से ज्यादा मिलेंगे.

500 रुपये से शुरू करें खाता

मान लीजिए किसी व्यक्ति ने हर महीने PPF खाते में 1,000 रुपये जमा कराया है. 15 साल में 1000 रुपये की जमा राशि 1,80,000 रुपये हो जाएगी. इस पर आपको 1,35,567 रुपये का ब्याज मिलेगा. दोनों अमाउंट को जोड़ दें 15 साल बाद मैच्योरिटी पर 3,15,567 रुपये होगा. अगर कोई व्यक्ति हर महीने 2 हजार या 24 हजार रुपये सालान जमा करता है तो उसकी कुल जमा राशि 3,36,000 रुपये होगी. इस पर ब्याज के रूप में 2,71,135 रुपये मिलेंगे. कुल पैसे को जोड़ दें तो जमाकर्ता के हाथ में 6,31,135 रुपये मिलेंगे.

10 हजार जमा करने पर कितना मिलेगा

किसी का और भी ज्यादा बजट है और वह हर महीने 4 हजार या सालाना 48 हजार रुपये जमा करता है. इस हिसाब से वह व्यक्ति 15 साल में 7,20,000 रुपये जमा करेगा. अंत में मैच्योरिटी होने पर उसे 12,62,271 रुपये मिलेंगे. अगर कोई व्यक्ति हर महीने 10,000 रुपये जमा करता है तो 15 साल में कुल जमा राशि 18,00,000 रुपये होगी. इस पर ब्याज के रूप में 13,55,679 रुपये मिलेंगे. मैच्चोरिटी के रूप में ये दोनों राशि जुड़कर हाथों में 31,55,679 रुपये के रूप में आएगी. साल में 1.5 लाख से ज्यादा जमा नहीं कर सकते लेकिन उससे कम की राशि भी जमा कर दें तो मैच्योरिटी पर मिलने वाला पैसा पर्याप्त होगा. लोग इसमें रिटायरमेंट फंड के लिए पैसा जमा करते हैं जो अंत में एकमुश्त बड़ी राशि के रूप में मिलता है.