Top 10 Sports News: भारत को दूसरे टी20 में श्रीलंका ने हराया, ओलंपिक में सिंधु ने बढ़ाए पदक की ओर कदम

 नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम को श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टी20 में शिकस्त झेलनी पड़ी. इस जीत के साथ श्रीलंका ने तीन मैचों की कोरोना प्रभावित तीन मैचों की सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली है. विराट कोहली और रोहित शर्मा को आईसीसी वनडे रैंकिंग में नुकसान हुआ है. वहीं, टोक्यो में जारी ओलंपिक खेलों (Tokyo Olympics) में शटलर पीवी सिंधु और बॉक्सर पूजा रानी ने पदक की ओर कदम बढ़ा दिए हैं. अपने जमाने के दिग्गज शटलर नंदू नाटेकर के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई हस्तियों ने दुख जताया.


कोलंबो में खेले गए दूसरे टी20 मैच में श्रीलंका ने टीम इंडिया को 4 विकेट से हरा दिया. शिखर धवन की कप्तानी वाली टीम ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 132 रन बनाए. जवाब में मेजबान श्रीलंका ने 2 गेंद पहले ही 6 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. श्रीलंका की जीत में धनंजय डी सिल्वा ने नाबाद 40 रन बनाए जिन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया. मिनोद भानुका ने भी 36 रनों की अहम पारी खेली. इस मैच में भारत के लिए चार खिलाड़ियों देवदत्त पडिक्कल, नीतीश राणा, चेतन सकारिया और ऋतुराज गायकवाड़ ने टी20 डेब्यू किया. श्रीलंका ने इस जीत के साथ ही टी20 सीरीज 1-1 से बराबर कर ली और सीरीज के विजेता का फैसला गुरुवार को होने वाले टी20 मैच में होगा.
भारत की हार के बाद कप्तान शिखर धवन ने कहा कि टीम इंडिया 10-15 रन कम बना पाई जिससे बड़ा अंतर हो गया. धवन ने मैच के बाद कहा, ‘पिच काफी बदली हुई नजर आ रही थी और गेंद थोड़ा रुककर आ रही थी. हम जानते थे कि हमारी टीम में एक बल्लेबाज कम है. हम यह सोचकर उतरे थे कि अपनी पारी को सतर्क होकर तैयार करना होगा लेकिन हम 10-15 रन कम बना पाए. इससे बड़ा फर्क हो गया. अगर यह संभव हो जाता तो मैच का परिणाम कुछ और हो सकता था.’
भारतीय महिला हॉकी टीम का टोक्यो ओलंपिक में निराशाजनक प्रदर्शन लगातार जारी रहा और तीसरे मैच में भी हार मिली. वहीं मुक्केबाजी में पूजा रानी ने अंतिम आठ में जगह बना ली. ओलंपिक में छठा दिन भारत के लिए ‘कहीं खुशी कहीं गम’ वाला ही रहा. बैडमिंटन में पीवी सिंधु ने अंतिम 16 में प्रवेश कर लिया लेकिन बी साई प्रणीत हार गए. तीरंदाजी में दीपिका कुमारी ने लगातार दो मुकाबले जीतकर राउंड ऑफ 16 में जगह बनाई. दूसरी ओर प्रवीण जाधव और तरुणदीप रॉय का सफर ओलंपिक में थम गया.
मेजबान जापान का टोक्यो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन जारी है और वह पदक तालिका में शीर्ष पर बरकरार है. उसके बाद चीन का नंबर है जिसने जापान से एक कम 12 स्वर्ण पदक जीत लिए हैं. तीसरे नंबर पर अमेरिका है जिसके 10 स्वर्ण और 11 रजत समेत कुल 30 पदक हैं. अमेरिका के नाम सबसे ज्यादा पदक हो गए हैं लेकिन स्वर्ण जीतने के मामले में वह तीसरे नंबर पर है. भारत 42वें स्थान पर है जिसके खाते में अभी तक एक ही पदक है. भारत 42वें नंबर पर है जिसके खाते में अभी तक एक ही पदक आया है. भारत के लिए वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने रजत पदक जीता था.
भारतीय टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली और बल्लेबाज केएल राहुल बुधवार को जारी ताजा आईसीसी टी20 रैंकिंग में पांचवें और छठे नंबर पर बरकरार हैं. हालांकि कप्तान विराट कोहली और रोहित शर्मा को वनडे रैंकिंग में नुकसान झेलना पड़ा है. दोनों ही खिलाड़ियों की वनडे रैंकिंग में 4-4 अंक कम हुए हैं. विराट वनडे रैंकिंग में दूसरे और रोहित शर्मा तीसरे नंबर पर हैं. जबकि पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम पहले नंबर पर बरकरार हैं.
भारतीय टीम के अनुभवी बल्लेबाज शिखर धवन ने श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज के दूसरे मैच में 42 गेंदों पर 40 रन बनाए. इस मैच में उन्हें देर तक टिकना बेहद जरूरी था लेकिन उनका स्ट्राइक रेट भी 100 से कम रहा. ऐसे में टी20 वर्ल्ड कप को देखते हुए उनकी जगह टीम में पक्की नजर नहीं आ रही है. सोशल मीडिया पर भी वह स्ट्राइक रेट के लिए ट्रेंड होने लगे. 35 वर्षीय धवन ने श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज के पहले मैच में नाबाद 86 रन बनाए थे, इसके बाद दूसरे वनडे में 29 और तीसरे में केवल 13 ही रन बना सके. इसके बाद पहले टी20 मैच में वह अर्धशतक से चूक गए थे. उन्होंने कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडियम में तब 46 रन बनाए थे.
ओलंपिक में भारत की सबसे बड़ी पदक उम्मीदों में से एक पहलवान विनेश फोगाट मंगलवार को फ्रैंकफर्ट से टोक्यो के लिए अपनी उड़ान नहीं ले पाईं. उनके यूरोपीय संघ (EU) के वीजा की अवधि एक दिन पहले ही खत्म हो गई थी. ओलंपिक से पहले हंगरी में अपने कोच वॉलर अकोस के साथ प्रशिक्षण ले रही विनेश को मंगलवार रात टोक्यो पहुंचना था, लेकिन जापान की राजधानी के लिए कनेक्टिंग विमान में चढ़ने से पहले उन्हें फ्रैंकफर्ट हवाई अड्डे पर रोक दिया गया. भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के सूत्रों ने बताया कि विनेश के वीजा से जुड़े मुद्दे को सुलझा लिया गया है. उनका वीजा 90 दिनों के लिए मान्य था लेकिन बुडापेस्ट से फ्रैंकफर्ट पहुंचने पर पता चला कि वह 91 दिनों के लिए यूरोपीय संघ (के क्षेत्र) में थी.
दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी नंदू नाटेकर का बुधवार को निधन हो गया. वह 1956 में अंतरराष्ट्रीय खिताब जीतने वाले पहले भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी थे. नाटेकर 88 साल के थे. अपने करियर में 100 से अधिक राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खिताब जीतने वाले नाटेकर उम्र संबंधित बीमारियों से पीड़ित थे. उनके परिवार में बेटा गौरव और दो बेटियां हैं. नंदू तीन महीने से बीमार थे. उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई दिग्गज हस्तियों ने दुख जताया. महाराष्ट्र के सांगली में जन्में नाटेकर को 1961 में प्रतिष्ठित अर्जुन पुरस्कार से नवाजा गया था.
मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने रत्नागिरी की 19 वर्षीय दीप्ति विश्वासराव के डॉक्टर बनने के सपने को पूरा करने के लिए मदद का हाथ बढ़ाया है. अगर दीप्ति का सपना सच होता है तो वह रत्नागिरी के झरे गांव की पहली डॉक्टर होंगी. दीप्ति को अपना सपना पूरा करने में आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था. सचिन और उनके संगठन ‘सेवा सहयोग फाउंडेशन’ ने दीप्ति के सपने को पूरा करने के लिए आर्थिक मदद करने का फैसला किया है.
भारतीय टेनिस खिलाड़ी सुमित नागल को दूसरे दौर में हराने वाले रूसी ओलंपिक समिति (ROC) के मेदवेदेव ने इटली के फैबियो फोगनिनी के खिलाफ मैच के दौरान चेयर अंपायर को कहा कि अगर वह मर गए तो क्‍या वह जिम्‍मेदार होंगे. दरअसल पुरुष एकल टेनिस में फोगनिनी के खिलाफ जीत के दौरान वह तेज गर्मी और उमस के कारण जूझते नजर आए. गोल्ड के दावेदार माने जा रहे मेदवेदेव ने मुकाबले के दौरान दो मेडिकल टाइम आउट लिए और एक बार उनके ट्रेनर को कोर्ट पर आना पड़ा. वह अंकों के बीच में अपने रैकेट के सहारे आराम करते दिखे. आरियाके टेनिस पार्क पर बुधवार को उमस और गर्मी से मेदवेदेव को जूझते देखकर चेयर अंपायर कार्लोस रामोस ने उनसे पूछा कि क्या वह खेलना जारी रखेंगे, जिस पर उन्होंने कहा कि मैं मैच खत्म कर सकता हूं, लेकिन मैं मर सकता हूं. अगर मैं मर गया तो क्या आप जिम्मेदार होंगे?