IND vs SL: राहुल द्रविड़ की बात हुई सच, दौरे से पहले ही सभी खिलाड़ियों को मौका देने का किया था वादा

 नई दिल्ली. भारत के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को श्रीलंका दौरे के लिए टीम के मुख्य कोच की अहम जिम्मेदारी सौंपी गई थी. सीरीज से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में द्रविड़ ने कहा था कि इस दौरे पर सभी खिलाड़ियों को मौका मिलेगा और ऐसा लगता है कि उनका यह वादा पूरा हो गया है. भारत और श्रीलंका के बीच सीरीज के दूसरे टी20 मैच के लिए टीम में चार खिलाड़ियों को डेब्यू का मौका मिला. हालांकि यह क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya) के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद हुआ.


क्रुणाल के संपर्क में रहने वाले खिलाड़ी भी इस सीरीज के बाकी दो मैचों का हिस्सा नहीं बन पाएंगे जिनमें उनके छोटे भाई हार्दिक पंड्या, पेसर दीपक चाहर, मनीष पांडे, ईशान किशन और सूर्यकुमार यादव भी शामिल हैं. दूसरे टी20 में देवदत्त पडिक्कल, नीतीश राणा, चेतन सकारिया और ऋतुराज गायकवाड़ को टी20 अंतरराष्ट्रीय डेब्यू का मौका मिला. खास बात है कि पृथ्वी शॉ और सूर्यकुमार यादव को इंग्लैंड के लिए रवाना होना है जहां उन्हें कुछ खिलाड़ियों के चोटिल होने के कारण पांच मैचों की सीरीज के लिए टीम इंडिया में चुना गया है.

राहुल द्रविड़ ने मैच से पहले कहा, ‘दुर्भाग्य से क्रुणाल पंड्या के करीबी संपर्क में रहने वाले खिलाड़ी अब सीरीज में नहीं खेल पाएंगे. हमारे पास चुनने के लिए 11 खिलाड़ी हैं और हमें उन्हें मौका देना है. इसमें खेद जताने जैसी कोई बात नहीं है. सभी 11 खिलाड़ी प्लेइंग-XI में जगह बनाने के लिए काफी अच्छे हैं और इसलिए उन्हें टीम में चुना गया है. मुझे लगता है कि उन्हें प्रदर्शन करते देखना रोमांचक है. हां, टीम का संतुलन थोड़ा मुश्किल होगा क्योंकि हम केवल उपलब्ध खिलाड़ियों में से ही चुन सकते हैं.’


इससे पहले सूर्यकुमार यादव ने भी अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया. वहीं, चेतन सकारिया को भी वनडे में डेब्यू का मौका मिला था. वहीं, पृथ्वी शॉ को टी20 टीम में पहली बार शामिल किया गया था, जब वह पहले टी20 मैच में खाता खोले बिना ही पैवेलियन लौट गए थे. वहीं, सीरीज के तीसरे और अंतिम वनडे में भी भारत ने एक रिकॉर्ड बनाया जब पांच खिलाड़ियों को इस फॉर्मेट में अंतरराष्ट्रीय डेब्यू का मौका मिला था.

श्रीलंका दौरे के लिए युवा खिलाड़ियों से भरी टीम इंडिया को उतारा गया था. वनडे में डेब्यू करने वालों में कृष्णप्पा गौतम, नीतीश राणा, चेतन सकारिया, राहुल चाहर और संजू सैमसन शामिल रहे थे. इसी साल टी20 वर्ल्ड कप भी खेला जाना है, ऐसे में भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए इस सीरीज का प्रदर्शन भी खास होगा. हालांकि नियमित कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री टीम के बारे में पहले से ही सोच रहे होंगे.


आईपीएल का दूसरा चरण भी यूएई में खेला जाना है जिसकी शुरुआत 19 सितंबर से होगी, जब मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स की भिड़ंत होगी. खास बात है कि टी20 वर्ल्ड कप को कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए यूएई में शिफ्ट कर दिया गया है. ऐसे में आईपीएल में युवा खिलाड़ियों का प्रदर्शन भी उन्हें टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया में जगह दिला सकता है.