IND vs SL: ऋतुराज और पडिक्कल को मिली खुली छूट, तीसरे T20 में श्रीलंका की खैर नहीं, टीम इंडिया के कोच का बयान

 टीम इंडिया (Team India) के बॉलिंग कोच पारस म्हाम्ब्रे ( Paras Mhambrey)  ने ऋतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) और देवदत्त पडिक्कल (Devdutt Padikkal) को डिफेंड किया है. और इनके अगले मैच में यानी कि आज होने वाले तीसरे और निर्णायक T20 में अच्छा करने की उम्मीद जताई है. म्हांब्रे ने कहा कि उनपर कोई दबाव नहीं है और टीम मैनेजमेंट ने दोनों को खुली छूट दे रखी है. श्रीलंका के खिलाफ दूसरे T20 में गायकवाड़ और पडिक्कल खुद को मिले बेहतरीन शुरुआत को बड़े स्कोर में नहीं बदल सके थे. ये इन दोनों ही खिलाड़ियों का क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में डेब्यू मैच था.

T20 डेब्यू पर ऋतुराज गायकवाड़ ने 18 गेंदों पर 21 रन बनाए थे. तो वहीं देवदत्त पडिक्कल ने 23 गेंदों पर तेज तर्रार 29 रन बनाए थे. लेकिन ये दोनों अपने स्टार्ट को बड़ी पारी में नहीं बदल सके, जिसका नतीजा ये रहा कि भारत को 4 विकेट से हार का सामना दूसरे T20 में करना पड़ा.

म्हांब्रे ने किया ऋतुराज और पडिक्कल को डिफेंड

भारतीय बॉलिंग कोच से जब सवाल हुआ कि दूसरे T20 में पडिक्कल और ऋतुराज के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद टीम मैनेजमेंट ने उनसे क्या कहा तो उन्होंने कहा कि जब आप अपने देश के लिए डेब्यू करते हैं तो धड़कनें हमेशा बढ़ी होती हैं. और, ये बात हम सब जानते हैं. उन्हें खुल कर खेलने की आजादी दी गई है. उन्हें किसी तरह का कोई दबाव लेने को नहीं कहा गया है.

‘ऋतुराज और पडिक्कल ने किया निराश पर ऐसे ही सीखेंगे’

पारस म्हांब्रे ने कहा, ” जहां तक बैटिंग का सवाल है हम जानते थे कि हमारे सिर्फ 5 या 6 नंबर तक ही बल्लेबाज हैं और हमें उसी हिसाब से प्लान कर आगे बढ़ना होगा. इसलिए हम अपने इसी गेम प्लान पर फोकस हैं. किसी भी खिलाड़ी को कई खास आदेश नहीं है कि उन्हें कैसे खेलना है. हां, ऋतुराज और देवदत्त ने निराश जरूर किया है पर उन्हें देश के लिए खेलने के हर मौके के साथ उन्हें सीखने को मिलेगा. बॉलिंग कोच ने कुलदीप यादव के भी तारीफों के पुल बांधे और उन्हें काबिल गेंदबाज बताया. म्हांब्रे ने कहा कि वो अपने प्लान पर अमल करते हैं. वो गेंदबाजी करते हैं तो ये सोचते हैं कि बल्लेबाज क्या करना चाह रहा है. और यही उनकी खूबी है.