ग्राहक के अकाउंट से कटे पैसे मगर दूसरे व्यक्ति को नहीं मिले… SBI ने बताया ये नियम, जिसका आप भी रखें ध्यान

 स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अब अपने ग्राहकों को कई सर्विस ऑनलाइन माध्यम से दे रहा है, ताकि ग्राहकों को बैंक ब्रांच विजिट करने की जरूरत ना पड़े. अब आप किसी को पैसे भेजने के साथ ही बिल पेमेंट या किसी व्यापारी को पेमेंट करने का काम भी ऑनलाइन माध्यम से अपने फोन के जरिए कर सकते हैं. लेकिन, कई बार शिकायत आती है कि किसी व्यक्ति को पेमेंट करते हैं तो अकाउंट से तो पैसे कट जाते हैं, लेकिन अगले शख्स के खाते में पैसा पहुंचता नहीं है.

ऐसे में आप इस तरह के ट्रांजेक्शन के खिलाफ शिकायत कर सकते हैं और बैंक कम से कम समय में इन समस्याओं का निपटारा कर देता है. अगर आप भी एसबीआई के ग्राहक हैं और कभी आपके साथ भी ऐसा होता है तो इसकी शिकायत कर सकते हैं. बैंक ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर इसकी जानकारी दी है और बताया है कि आप किस तरह ऑनलाइन माध्यम से शिकायत कर सकते हैं.

दरअसल, एक बैंक ग्राहक ने ट्विटर के जरिए ऐसे ट्रांजेक्शन की जानकारी दी थी और एसबीआई को टैग करके मदद मांगी थी. इसके बाद बैंक ने ट्वीट कर जानकारी दी है, ‘प्रिय ग्राहक, हमें आपको हुई परेशानी के लिए खेद है. हम त्वरित निपटारा करना चाहते हैं और आपसे https://crcf.sbi.co.in/ccf/ under the category Existing Customer – MSME/ Agri/ Other Grievance under Category Technology: Internet Banking >> Online Payment/ Transfer >> Merchant Transaction पर आवश्यक डिटेल शेयर करने का अनुरोध करते हैं. हमारी टेक्निकल टीम आपसे जल्द ही संपर्क करेगी. शुक्रिया.’

गलत खाते में पैसे भेज दें तो क्या होता है?

बैंक के अनुसार, ऐसे में बैंक जिम्मेदार नहीं है. ग्राहकों से अनुरोध है कि कोई भी डिजिटल ट्रांसफर करने से पहले बेनिफिशयरी की अकाउंट डिटेल वेरिफाई करें. साथ ही ध्यान रखें कि ग्राहक की ओर से किए गए गलत ट्रांजेक्शन के लिए बैंक जिम्मेदार नहीं होगा. हालांकि, ग्राहक की होम ब्रांच बिना किसी जिम्मेदारी के अन्य बैंक के साथ फॉलो अप ले सकती है. इस संबंध में अधिक सहायता के लिए कृपया अपनी होम ब्रांच और या बेनेफिशयरी के बैंक से संपर्क कर सकते हैं.

किन बातों का रखें ध्यान?

इसके लिए सबसे अहम है कि जब भी आप कोई भी ट्रांजेक्शन करने से पहले बेनिफिशयरी की अकाउंट डिटेल चेक करें और उसके बाद पैसे ट्रांसफर की लास्ट प्रोसेस के वक्त भी समरी में बेनिफिशयरी का नाम जरूर देखें. आपको एक ट्रांजेक्शन में सिर्फ 30 सेकेंड ज्यादा देने होंगे और आप अपनी गलतियों से बच सकेंगे और आपके पैसे उन लोगों तक पहुंच जाएंगे, जहां पैसे जाने हैं.