Post Office की ये स्कीम बनाएगी मालामाल! 5 साल के इस प्लान में सालाना होगा 1 लाख से ज्यादा का प्रॉफिट

 नई दिल्ली. अगर आप निवेश करने का प्लान बना रहे हैं तो डाकघर (Post Office) की छोटी बचत योजना (Small Savings Scheme) एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है. डाकघर की छोटी बचत योजनाओं में आपको बैंक की एफडी या आरडी से अच्छा रिटर्न मिल जाता है. पोस्ट ऑफिस की यह स्कीम इसलिए भी बेहतर विकल्प हो सकती हैं क्योंकि इसमें पैसा पूरी तरह सेफ है. इसमें जमा राशि पर सॉवरेन गारंटी होती है. चलिए जानते हैं इस योजना के बारे में सबकुछ…


नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC):
डाकघर की योजना में एक नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) है जहां एफडी के मुकाबले बेहतर ब्याज मिल रहा है.


ब्याज दर :
डाकघर की NSC योजना में अभी सालाना 6.8 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. इसे सालाना आधार पर कंपाउंड किया जाता है लेकिन भुगतान मेच्योरिटी पर ही होता है. इस स्कीम का टेन्योर 5 साल का है. हालांकि मेच्योरिटी पूरा होने पर इसे और 5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है.

निवेश के 5 विकल्प :
नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट अभी 100 रुपये, 500 रुपये, 1000 रुपये, 5000 रुपये और 10,000 रुपये के मूल्य में उपलब्ध है. अलग अलग वैल्यू के कितने भी सर्टिफिकेट खरीदकर एनएससी में निवेश किया जा सकता है. इसमें मिनिमम 100 रुपये का निवेश जरूरी है. अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है.

जानिए कैसे 15 लाख के बनेगें 21 लाख :
अगर आप इस स्कीम में 15 लाख रुपये निवेश करते हैं, तो 6.8 फीसदी ब्याज दर से ये 5 साल में 20.85 लाख रुपये हो जाएंगे. इसमें आपका निवेश 15 लाख होगा, लेकिन ब्याज के रूप में करीब 6 लाख रुपये का फायदा होगा. इनकम टैक्स एक्ट 1961 के सेक्शन 80C के अंतर्गत NSC के तहत 1.5 लाख रुपये सालाना तक के निवेश पर टैक्स कटौती लाभ मिलता है.