Tokyo Olympics की निराशा के बाद मैरी कॉम ने भरी हुंकार, संन्यास की अटकलों को किया इस जवाब से खारिज

 भारत की महान मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम (MC Mary Kom) टोक्यो ओलिंपिक 2020 (Tokyo Olympics 2020) में चौंकाने वाली हार के बाद देश वापस लौट आई हैं. मैरी को कोलंबिया की इनग्रिट वेलेंसिया के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था, जिसके बाद उनका दूसरा ओलिंपिक मेडल जीतने का सपना टूट गया. मैरी का ये आखिरी ओलिंपिक था, लेकिन भारतीय दिग्गज ने साफ किया है कि वह अभी रिंग से दूर नहीं जाने वाली और कम से कम 40 साल की उम्र तक प्रतिस्पर्धी बॉक्सिंग में हिस्सा लेने की क्षमता रखती हैं. मैरीकॉम के सामने बड़े इवेंट के तौर पर इस साल के अंत में होने वाली आईबा विश्व चैंपियनशिप है, जिसका आयोजन अक्टूबर में होना है.

38 साल की भारतीय बॉक्सर मैरीकॉम टोक्यो में अपना अभियान खत्म होने के बाद शनिवार 31 जुलाई को नई दिल्ली लौटीं. छह बार की विश्व चैंपियन मैरीकॉम को 51 किलोग्राम वर्ग में कोलंबियाई बॉक्सर ने करीबी मुकाबले में 3-2 से हराया. देश वापस लौटने पर उन्होंने आने वाले वक्त का अपनी योजना साफ कर दी. समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, मैरी ने संन्यास की अटकलों से इंकार कर दिया. मैरी ने कहा, “हां हां क्यों नहीं? मेरे पास अभी उम्र है. मैं 40 तक खेल सकती हूं.”

फैसले में हेरा-फेरी, बेईमानी

वहीं मैरीकॉम अंतिम-16 मैच में मिली हार पर अपनी निराशा नहीं छुपा पाईं और एक बार फिर बेईमानी और नतीजों में हेरा-फेरी का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, “इसमें हेर-फेर और बेईमानी हुई है मैंने पहले दोनों राउंड जीते थे, तो फिर मैं मैच कैसे हार सकती हूं? मैं देश से माफी मांगना चाहती हूं.” मैरी को पहले राउंड में हार मिली थी, जबकि अगले दोनों राउंड में उन्हें जीत मिली थी, लेकिन जजों की ओर से दिए गए स्कोर के कारण अंतिम नतीजे में मैरी को हार झेलनी पड़ी.

उन्होंने कहा कि वह टोक्यो से खाली हाथ लौटने पर निराश हैं. मैरी ने कहा, “बिना मेडल के ही वापस लौटने पर मुझे बेहद खराब लग रहा है. मैं मेडल के साथ वापस लौटना चाहती थी. ये दुर्भाग्यपूर्ण भी नहीं था, मुझे समझ नहीं आ रहा कि क्या कहूं.”

2 घंटे बाद हुआ हार का एहसास

इस मैच में आए फैसले के बाद मैरी ने रिंग में अपना हाथ खड़ा कर लिया था और विरोधी को गले लगाया था. मैरी ने तब कहा था कि उन्हें लगा था कि वह जीत गई हैं, लेकिन करीब 2 घंटे बाद उन्हें ट्विटर के जरिए पता चला कि वह हार गई हैं. इसके बाद मैरी ने भावुक हो गई थीं और उन्होंने फैसले में बेईमानी का आरोप लगाया था.