कश्‍मीर प्रीमियर लीग: BCCI पर आरोप लगाकर घिरे शाहिद अफरीदी, Fans ने कहा- सुधर जाओ

 नई दिल्‍ली. साउथ अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर हर्शल गिब्‍स (Herschelle Gibbs) ने कश्‍मीर प्रीमियर लीग (Kashmir Premier League) को लेकर बीसीसीआई (BCCI) पर दबाव बनाने का आरोप लगाया था. अब इस मसले पर पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी (shahid afridi) भी कूद पड़े हैं. हालांकि, उनका ऐसा करना क्रिकेट फैंस को रास नहीं आया. कई फैंस ने अफरीदी को सोशल मीडिया पर खरी-खोटी सुना दी. कश्‍मीर प्रीमियर लीग (Kashmir Premier League) में हर्शल गिब्‍स, तिलकरत्‍ने दिलशान, मोंटी पनेसर जैसे क्रिकेटर नजर आएंगे.


दक्षिण अफ्रीका के पूर्व सलामी बल्‍लेबाज ने ट्विटर पर पोस्‍ट करते हुए कहा था कि पाकिस्‍तान के साथ अपने राजनीतिक एजेंडा और मुझे कश्‍मीर प्रीमियर लीग में खेलने से रोकने के लिए बीसीसीआई ऐसी चीजें कर रहा है, जिसकी बिल्‍कुल भी जरूरत नहीं है. साथ ही मुझे डराते हुए कह रहे हैं कि वे मुझे क्रिकेट से संबंधित किसी भी काम के लिए भारत आने नहीं देंगे. यह काफी गलत है. उनके इस ट्वीट पर अब पूर्व पाकिस्‍तानी कप्‍तान शाहिद अफरीदी (shahid afridi) ने भी बड़बोला बयान दिया है.

हालांकि इस बयान के बाद वो खुद ही घिर गए. अफरीदी ने ट्वीट करके कहा कि बहुत निराशजनक है कि बीसीसीआई एक बार फिर क्रिकेट और राजनीति को मिला रहा है. कश्‍मीर प्रीमियर लीग कश्‍मीर, पाकिस्‍तान और दुनिया भर के क्रिकेट फैंस के लिए है. हम शानदार आयोजन करेंगे और इस तरह के व्‍यवहार से विचलित नहीं होंगे.

हालांकि इसके बाद अफरीदी खुद ही क्रिकेट फैंस के निशाने पर आ गए. फैंस ने उनसे क्रिकेट और राजनीति दोनों को न मिलाने की अपील की. एक फैन ने कहा कि उन्‍हें सुधर जाना चाहिए. वहीं एक फैन ने कहा कि पाकिस्‍तान सुपर लीग फ्रेंचाइजी नाखुश है. पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड पर फ्रेंचाइजियों की तरफ से मॉडल बदलने का दबाव है. हैरानी इस बात की है कि नई लीग शुरू करने की जरूरत क्‍या थी.

कश्‍मीर प्रीमियर लीग के पहले सीजन का आयोजन इस महीने होगा. इस लीग में हर्शल गिब्‍स, तिलकरत्‍ने दिलशान, मोंटी पनेसर जैसे बड़े क्रिकेटर्स भी नजर आएंगे. लीग में ओवरसीज वॉरियर्स, मुजफ्फराबाद टाइगर्स, रावलकोट हॉक्स, बाग स्टालियन, मीरपुर रॉयल्स और कोटली लायंस 6 टीमें हिस्‍सा ले रही है.