विराट कोहली शब्दों का चयन ध्यान से करें, बच्चे भी उन्हें देखते हैं: दीप दासगुप्ता

 नई दिल्ली. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की गिनती दुनिया के दिग्गज बल्लेबाजों में होती है. वह मैदान पर काफी एक्टिव रहते हैं और अपनी टीम के खिलाड़ियों का हौसला भी लगातार बढ़ाते रहते हैं. इस दौरान हालांकि वह कई बार शब्द गलत इस्तेमाल कर बैठते हैं और ऐसे कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो जाते हैं. इसी को लेकर पूर्व भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज दीप दासगुप्ता (Deep Dasgupta) ने विराट को यह कहते हुए सावधान किया है कि उनके खेल को बच्चे भी देखते हैं.


44 वर्षीय दीप दासगुप्ता का मानना ​​​​है कि विराट को मैदान पर अपने इशारों और शब्दों के बारे में थोड़ा और सावधान रहना चाहिए. कोहली अक्सर मैदान पर काफी जोश और आक्रामकता लाने के लिए जाने जाते हैं. दासगुप्ता ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि मैदान पर कोहली की ऊर्जा उन्हें आगे बढ़ाती है और उन्हें बेहतर बनाती है लेकिन वह उन सबसे शांत लोगों में से एक हैं जिन्हें वह जानते हैं. दीप से उनके चैनल पर एक Q&A सेशन में कोहली के ‘मुंह पर उंगली’ रखने के बारे में पूछा गया, जिस पर उन्होंने सहमति जताई कि कोहली कभी-कभी बहक जाते हैं.


उन्होंने कहा, ‘हां, वह देश के राजदूत हैं, खासकर जब आप भारत से बाहर खेल रहे हों… जैसा कि मैंने कहा, साउथैम्प्टन में मैं नहीं था इसलिए मुझे नहीं पता कि उन्होंने कैसा व्यवहार किया. मैं सहमत हूं (उन्हें अपने शब्दों और इशारों को सही से चुनने की जरूरत है) सही तरीके से. कुछ बातें, मुझे पता है कि वह बहक जाते हैं. जैसा कि आपने कहा कि ऐसे बच्चे भी हैं जो उन्हें देख रहे हैं, वह लाखों बच्चों के लिए एक आदर्श है और मैं इससे सहमत हूं.’