देखें वीडियो टीम इंडिया 14 साल से इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाई, अब विराट कोहली ने बताया कैसे मिलेगी कामयाबी

 भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने सोमवार को कहा कि इंग्लैंड (England) में टेस्ट सीरीज जीतने के लिए अथक प्रयास और पूरी तरह से उत्कृष्टता हासिल करने पर ध्यान देना जरूरी है. कोहली की अगुवाई में भारतीय टीम (Indian Cricket Team) जो रूट की कप्तानी वाली इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेगी जिसका आगाज बुधवार को पहले टेस्ट से होगा. उन्होंने भारतीय विकेटकीपर दिनेश कार्तिक के सवाल पर ‘स्काई स्पोर्ट्स’ कहा, ‘पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में हमें हर दिन अथक प्रयास के साथ उत्कृष्टता हासिल करने पर ध्यान देना जारी रखना होगा. यहां आपको खुद से यह कहना होगा कि आप कड़ी मेहनत करना चाहता है और ऐसी परिस्थितियों का सामना करना चाहते है जो हर दिन हर टेस्ट मैच में कठिन होती हैं. आपको इस तरह के कार्यभार के लिए मानसिक तौर पर तैयार रहना होगा.’

कोहली के लिए व्यक्तिगत रूप से, इंग्लैंड में जीतना कहीं और जीतने से ज्यादा बड़ी उपलब्धि है. उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से यहां टेस्ट मैच या टेस्ट सीरीज जीतने से ज्यादा कुछ नहीं है. हम मैदान पर कदम रखते हैं और हम प्रतिस्पर्धा करते हैं. हम हर टेस्ट मैच जीतना चाहते हैं, यही मेरे लिए ज्यादा मायने रखता है, क्योंकि फिर से यह एक संस्कृति की तरह है, ये परिणाम हैं. भारतीय क्रिकेट के लिए यह (इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज में जीत) बहुत बड़ी बात होगी और हमने इसे पहले भी किया है. हम इसे फिर से कर सकते हैं, लेकिन मुझे यह संस्कृति अधिक पसंद है.

उन्होंने कहा,

मैं अपनी क्षमता के मुताबिक सब कुछ करूंगा, भले ही आप टेस्ट मैच हार जाएं. मैं चाहता हूं कि टेस्ट मैच के तीसरे या चौथे दिन हम जीत दर्ज करने की कोशिश करें क्योंकि मुझे आत्मसमर्पण करके मैच बचाने की कोशिश करना पसंद नहीं है. इसलिए मेरे लिए कीर्तिमान कोई मतलब नहीं रखते हैं. यदि मैं अपने करियर में कीर्तिमान के लिए खेलता तो जो कुछ मैं आज हूं उसका आधा भी नहीं होता. मेरा माइंटसेट एकदम साफ है और हमारे लिए उत्कृष्टता हासिल ही लक्ष्य है.

14 साल से इंग्लैंड में सीरीज नहीं जीत पाया भारत

भारत पिछले 14 साल से इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाया है. टीम इंडिया ने आखिरी बार राहुल द्रविड़ की कप्तानी में इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीती थी. इसके बाद के दौरों पर भारत ने दो बार एक-एक टेस्ट मैच जीता है लेकिन सीरीज अभी भी हाथ नहीं आई है. विराट कोहली की कप्तानी में यह भारत का दूसरा दौरा है. इससे पहले 2018 के दौरे पर भारत को 4-1 से हार का सामना करना पड़ा था.