IND vs ENG: धोनी का करीबी बनेगा इंग्लैंड में कोहली सेना का मददगार, लेगा हार्दिक पंड्या की जगह!

 भारत (Indian Cricket Team) के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने इंग्लैंड के खिलाफ चार अगस्त से शुरू हो रही पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए संभावित टीम संयोजन का खुलासा नहीं किया. लेकिन संकेत दिया कि निचले क्रम में बल्लेबाजी करने की क्षमता के कारण तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) का इस्तेमाल किया जा सकता है. रहाणे से जब पूछा गया कि भारतीय गेंदबाजों में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज कौन है जो हार्दिक पंड्या की जगह को भर सकता है तो उन्होंने मुंबई के अपने साथ खिलाड़ी शार्दुल का नाम लिया. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में ब्रिस्बेन टेस्ट में अर्धशतकीय पारी खेलने के साथ सात विकेट भी चटकाए थे. शार्दुल ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 16.58 के औसत से सात अर्धशतक लगाए हैं. शार्दुल ठाकुर आईपीएल में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपरकिंग्स टीम से खेलते हैं. यहां पर उनकी बैटिंग की काफी चर्चा रहती है. हालाकिं अभी तक आईपीएल में वे बल्ले से कमाल नहीं कर पाए हैं.

रहाणे ने कहा, ‘हर कोई अलग तरह का खिलाड़ी है. हार्दिक ने 2018 में जो किया वह हमारे लिए अलग था. शार्दुल बल्लेबाजी कर सकता हैं. आपने उसे को ऑस्ट्रेलिया में बल्लेबाजी करते देखा है और उसने घरेलू क्रिकेट में भी अच्छा प्रदर्शन किया है. (जसप्रीत) बुमराह, (मोहम्मद) शमी, (मोहम्मद) सिराज, उमेश (यादव) और ईशांत (शर्मा) नेट सत्र में अभ्यास कर रहे हैं. पारी के आखिर में हम जो भी 20-30 रन बनाते हैं, वह बहुत मायने रखता है. यह अच्छा है कि वे नेट सत्र में कम से कम 10-12 मिनट तक बल्लेबाजी करना चाहते हैं. इसका परिणाम बाद में दिखेगा. अभी यह प्रक्रिया और कड़ी मेहनत करके टीम के सदस्य के रूप में योगदान करना महत्वपूर्ण है.. हम अपने पुछल्ले बल्लेबाजों से कुछ योगदान की उम्मीद कर रहे हैं.’

इंटेंट से जुड़े सवाल पर किया पुजारा का बचाव

रहाणे ने किसी का नाम लिए बगैर कहा कि बल्लेबाजों को अपनी शैली में खेलना जारी रखना चाहिए. उन्होंने चेतेश्वर पुजारा की ओर इशारा कर इरादे (इंटेंट) को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि जब तक टीम प्रबंधन से कोई संदेश नहीं मिलता तब तक हर किसी को अपनी शैली में खेल जारी रखना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘जाहिर है, हमने एक साथ बैठकर अपनी बल्लेबाजी योजनाओं के बारे में चर्चा की लेकिन इंग्लैंड में एक बल्लेबाज के लिए यह चुनौतीपूर्ण स्थिति है. हर किसी की अलग-अलग योजनाएं होती हैं और सभी को अपनी (खेली) शैली का समर्थन करने की जरूरत होती है.’

रहाणे ने कहा कि उनकी टीम इस बात से पूरी तरह वाकिफ है कि इंग्लैंड में घास वाली पिचें मिलेंगी और भारतीय खिलाड़ियों को तेज गेंदबाजों के अनुकूल परिस्थितियों का मुकाबला करने की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘हम उम्मीद करते हैं कि इंग्लैंड हमें इस तरह के विकेट मिलेंगे. यह उसका घरेलू मुकाबला है और हम इसके बारे में ज्यादा नहीं सोच रहे है. हमें पिच की चिंता नहीं है.’