18 साल तक बल्‍ले से धूम मचाने के बाद इस दिग्‍गज क्रिकेटर ने लिया संन्‍यास, टी20 शतक ठोक रचा था इतिहास

 नेपाल क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान पारस खड़का ने 18 वर्षों तक देश के लिए खेलने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया. नेपाल के 2002 में डेब्यू करने वाले पारस ने 10 वनडे और 33 टी20 मुकाबले में अपने देश का प्रतिनिधित्व किया है. इस 33 वर्षीय खिलाड़ी ने अपने करियर में दो शतक और पांच अर्धशतक जड़े हैं. पारस का टॉप इंटरनेशनल स्कोर 115 रन रहा है, जिसे दुबई के ग्राउंड में संयुक्त अरब अमीरात के खिलाफ खेलते हुए बनाया था. खड़का ने 2004 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पदार्पण किया था.

पारस ने अपना दूसरा शतक सितंबर 2019 में सिंगापुर के खिलाफ बनाया था. उन्होंने तब 52 गेदों में 106 रनों की धुंआधार पारी खेली थी. खड़का ने एकदिवसीय और टी20 इंटरनेशनल में 17 विकेट चटकाए हैं.

“मेरे देश के लिए क्रिकेट सपने अभी शुरू हुए हैं”

संन्यास के ऐलान पर दिए अपने बयान में पारस ने कहा- “नेपाल के लिए खेलना मेरी सबसे बड़ी उपलब्धि रही है और इसके लिए मैं हमेशा अपने कोचों, खिलाड़ियों, प्रशंसकों, दोस्तों और परिवार के प्रति उनके निरंतर समर्थन के लिए ऋणी रहूंगा. मैंने 15 साल पहले एक युवा के रूप में शुरुआत की थी. एक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर के रूप में क्रिकेट के मैदान पर अद्भुत यात्रा यहीं समाप्त होती है, लेकिन मेरे देश के लिए क्रिकेट के सपने अभी शुरू हुए हैं.”

नेपाल में बेहतर क्रिकेट सिस्टम देखने का सपना

पिछले दो दशकों में नेपाल के क्रिकेट में पूरे दिल से योगदान देने के बाद, खड़का देश में एक ‘बेहतर क्रिकेट प्रणाली’ देखना चाहते हैं. उन्होंने कहा- “मेरा अंतिम सपना यह देखना है कि नेपाल में एक बेहतर क्रिकेट प्रणाली हो, जिसके लिए मैंने पिछले दो दशकों में अपनी सारी ऊर्जा खर्च की है. इसे सुधारने के लिए क्रिकेट समुदाय और उसके बाहर सभी के समर्थन की आवश्यकता होगी.

खेले हैं तीन विश्व कप

खड़का ने क्रमशः 2004, 2006 और 2008 में नेपाल के लिए तीन अंडर-19 विश्व कप भी खेले हैं. 2009 में वो नेपाल की नेशनल टीम के कप्तान बने थे. उन्हें 2007 में अंडर -19 एसीसी ट्रॉफी में उन्हें प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट भी चुना गया था. उनका आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच मार्च 2020 में एसीसी पूर्वी क्षेत्र टी20 में थाईलैंड के खिलाफ था.