यहां पैसे लगाकर लखपति बन गए लोग, सालभर में 5 लाख बन गए ₹15.38 लाख, अब भी है मौका

 नई दिल्ली. अगर आप भी शेयर बाजार (Share Market) में पैसे लगा रहे हैं तो आपके लिए काम की खबर हो सकती है. दरअसल, पिछले कुछ समय से शेयर मार्केट में जबरदस्त तेजी देखने को मिल रही है. सेंसेक्स पहली बार 54 हजार के पार पहुंचा है, निफ्टी भी 16000 के स्तर पर है. इस दौरान मिड कैप (Mid Cap) और स्माॅल कैप (Small Cap) शेयर्स मल्टीबैगर (Multibagger Stock) साबित हो रहे हैं.


आज हम आपको एक ऐसे ही मल्टीबैगर स्टाॅक के बारे में बता रहे हैं जिसने सालभर में ही निवेशकों को तीन गुना से ज्यादा का रिटर्न (Triple return) दिया है. हम बात कर रहे हैं- सोनाटा सॉफ्टवेयर स्टाॅक (Sonata Software) के बारे में…सोनाटा सॉफ्टवेयर के शेयर ने पिछले 12 महीनों में अपने शेयरधारकों को 208 फीसदी रिटर्न दिया है.


5 अगस्त को शेयर प्राइस ₹287.25 पर था
5 अगस्त, 2020 को सोनाटा सॉफ्टवेयर का शेयर प्राइस 287.25 रुपये पर था. 5 अगस्त 2021 को यह बढ़कर 884.05 रुपये हो गया. इस एक साल की अवधि के दौरान यह शेयर 208 फीसदी तेजी के साथ बढ़त हासिल की. एक साल पहले इस मल्टीबैगर स्टॉक में निवेश की गई 5 लाख रुपये की रकम आज 15.38 लाख रुपये हो रही है. यानी कि सालभर में इस शेयर में किसी ने 5 लाख लगाई होती तो आज उसे 15.38 लाख रुपये का फायदा होता.

ऑल टाइम हाई रिकाॅर्ड पर पहुंचा शेयर
इस साल की शुरुआत से स्टॉक में 109.5 फीसदी की तेजी आई है. जून 2021 को समाप्त तिमाही के लिए कंपनी के अच्छे आंकड़ों की रिपोर्ट के बाद बीएसई (BSE Sensex) पर यह 9 प्रतिशत बढ़कर 884.05 रुपये के ऑल टाइम हाई रिकाॅर्ड पर पहुंच गया. इस कंपनी का मार्केट कैप (Sonata Software Market Cap) 8,600 करोड़ रुपये से अधिक हो गया है. सोनाटा सॉफ्टवेयर की हिस्सेदारी 5 दिन, 10 दिन, 20 दिन, 50 दिन, 100 दिन और 200-दिवसीय मूविंग एवरेज के हिसाब से बढ़ी है.


बेहद मजबूत है कंपनी की वित्तीय स्थिति
MarketsMojo की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी के पास कर्ज चुकाने की एक मजबूत क्षमता है क्योंकि कंपनी का कर्ज-ईबीआईटीडीए अनुपात (EBITDA ratio ) -0.72 गुना कम है. साथ ही, कंपनी की उच्च संस्थागत हिस्सेदारी 28.29% है और पिछली तिमाही की तुलना में उनकी हिस्सेदारी में 1.35% की वृद्धि हुई है. जून 2021 को समाप्त तिमाही में कंपनी ने 86.73 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया. एक साल पहले की अवधि में लाभ 49.92 करोड़ रुपये था. जून-समाप्त तिमाही में परिचालन से राजस्व 33 प्रतिशत बढ़कर 1,268.54 करोड़ रुपये हो गया, जो एक साल पहले 952.44 करोड़ रुपये था.