IND vs ENG 1st Test : Day 2- जेम्स एंडरसन ने कराई इंग्लैंड की वापसी, बारिश ने दी भारत को राहत

 नॉटिंघम. भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में दूसरा दिन वर्षा से प्रभावित रहा. नॉटिंघम में इस मुकाबले में पहले दिन इंग्लैंड को 183 रन पर समेटने के बाद भारत ने बिना कोई विकेट खोकर 21 रन बनाए थे. दूसरे दिन 33.4 ओवर का ही खेल संभव हो सका और बाद में जल्दी स्टंप्स का फैसला लिया गया. तब तक भारत ने 46.4 ओवर में 4 विकेट खोकर 125 रन बनाए थे. ओपनर केएल राहुल 57 और विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत 7 रन बनाकर नाबाद लौटे.


तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन (James Anderson) की अगुआई में इंग्लैंड ने 15 रन के अंदर भारत के चार विकेट झटक लिए. खराब रोशनी और बारिश के कारण दिन में केवल 33.4 ओवर का खेल ही हो पाया जिसमें भारत ने अपनी पहली पारी में चार विकेट पर 125 रन बनाए. वह अभी इंग्लैंड के 183 रन से 58 रन पीछे है. बारिश के कारण दूसरे सत्र और तीसरे सत्र में केवल नौ ओवर का खेल हो पाया.

भारत का स्कोर एक समय बिना किसी नुकसान के 97 रन था लेकिन उसने 35 गेंदों के अंदर रोहित शर्मा (107 गेंदों पर 36), चेतेश्वर पुजारा (16 गेंदों पर चार), कप्तान विराट कोहली (0) और अजिंक्य रहाणे (5) जैसे दमदार बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिए.

ओपनर रोहित शर्मा लंच से ठीक पहले आउट हुए जिसके बाद एंडरसन (15 रन देकर 2) ने कहर बरपाया. ऐसे में मौसम भारत के बचाव में आया. बारिश के कारण जब दिन का खेल समाप्त किया गया, तब केएल राहुल 151 गेंदों पर 57 रन बनाकर खेल रहे थे जबकि विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने 7 रन बनाए थे. बारिश के कारण लंच के बाद केवल 45 मिनट का खेल हो पाया. तीसरे सत्र में दो अवसरों पर खिलाड़ी मैदान पर लौटे लेकिन दोनों बार तुरंत ही बारिश आ गई जिससे इस दौरान क्रमश: एक और दो गेंद ही फेंकी जा सकी.


ट्रेंटब्रिज के ऊपर काले बादल मंडरा रहे थे और ऐसे में एंडरसन ने ऑफ स्टंप को निशाना बनाकर गेंदबाजी की. उन्होंने पुजारा और कोहली को लगातार गेंदों पर आउट किया. पुजारा क्रीज पर किसी भी समय सहज नहीं दिखे. एक बार उन्होंने ओली रॉबिन्सन की सीधी गेंद पर भी शॉट नहीं खेला लेकिन तब डीआरएस उनके बचाव में आया. एंडरसन ने उन्हें विकेट के पीछे कैच कराया. उनकी अगली गेंद भी कोहली के बल्ले को चूमकर विकेटकीपर जोस बटलर के दस्तानों में समा गई.

रहाणे तेजी से रन चुराने के प्रयास में राहुल के साथ गफलत में फंस गये और रन आउट होकर पवेलियन लौटे जिससे मैच बराबरी पर पहुंच गया. डॉम सिबली ने यदि 45वें ओवर में एंडरसन की गेंद पर राहुल का आसान कैच नहीं छोड़ा होता तो भारत और ज्यादा मुश्किल में होता. इससे पहले रोहित ने डिफेंसिव अंदाज में बल्लेबाजी की लेकिन लंच से ठीक पहले वह रॉबिन्सन की शार्ट पिच गेंद पर अपना पसंदीदा पुल शॉट खेलकर आउट हुए.


रोहित और राहुल की सलामी जोड़ी ने 97 रन जोड़कर इंग्लैंड को हताश कर दिया था लेकिन ऐसे में रोहित का रोबिन्सन की गेंद को स्क्वायर लेग बाउंड्री के पार भेजने का इरादा फलीभूत नहीं हुआ क्योंकि गेंद सीधे सैम कुरेन के पास पहुंच गई. रोहित और राहुल 2018 के बाद भारत की 10वीं सलामी जोड़ी है लेकिन वह अभी तक सबसे प्रभावी रही है. इन दोनों के बीच की साझेदारी ने इंग्लैंड को निश्चित तौर पर बैकफुट पर भेज दिया था.


इन दोनों भारतीय बल्लेबाजों ने धैर्य के साथ बल्लेबाजी की और रन बनाने के लिये ढीली गेंदों का इंतजार किया. उन्होंने कुछ आकर्षक ड्राइव लगाकर स्कोर बोर्ड को चलायमान रखा. उनकी रणनीति स्पष्ट थी कि पहले घंटे में कोई जोखिम नहीं उठाना और ऐसे में रोहित ने अपनी रक्षात्मक तकनीक का अच्छा प्रदर्शन किया.

उन्होंने इंतजार करने की रणनीति अपनाई क्योंकि वह विदेशी धरती पर बड़ा स्कोर बनाने के लिए बेताब हैं लेकिन इस बीच उन्होंने कुछ दर्शनीय शॉट भी खेले. राहुल ने शुरू में सतर्कता बरती लेकिन इसके बाद उन्होंने कुछ अच्छे स्क्वायर और कवर ड्राइव लगाए और रन गति तेज की. रोहित ने अपनी पारी में छह चौके लगाए जबकि राहुल अभी तक 9 चौके लगा चुके हैं.