TOP 10 Sports News: नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड जीत रचा इतिहास, भारत को इंग्लैंड ने दिया 209 रन का लक्ष्य

 नई दिल्ली. भारत के इतिहास में 7 अगस्त का दिन स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज हो गया. भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) ने टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया. उनके अलावा बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) ने रेसलिंग में ब्रॉन्ज मेडल जीता. भारत ने टोक्यो ओलंपिक में कुल 7 पदक जीते जो उसका अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. वहीं, नॉटिंघम में इंग्लैंड पहले टेस्ट मैच में चौथे दिन अपनी दूसरी पारी में 303 रन पर ऑलआउट हो गया जिसके चलते भारतीय टीम को 209 रन का लक्ष्य मिला.


भारत के स्टार जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीत इतिहास रच दिया. नीरज चोपड़ा एथलेटिक्स में ओलंपिक पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं. नीरज चोपड़ा ने फाइनल मुकाबले में 87.58 मीटर दूर भाला फेंक गोल्ड मेडल जीता. नीरज ने अपने दूसरे थ्रो में ही ये दूरी तय की. नीरज चोपड़ा ने पहले थ्रो में ही 87.03 की दूरी तय कर नंबर 1 पर जगह बना ली थी लेकिन इसके बाद उन्होंने अगले थ्रो में अपना प्रदर्शन और बेहतर किया. नीरज चोपड़ा ने टोक्यो में भारत को पहला गोल्ड मेडल दिलाया. चेक रिपब्लिक के जाकुब वैडेलीच 86.67 मीटर और वितेस्लाव वेसली 85.44 मीटर की दूरी के साथ दूसरे और तीसरे नंबर पर रहे.
भारत ने टोक्यो ओलंपिक में एक गोल्ड, 2 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज समेत कुल 7 मेडल जीते. यह देश का ओलंपिक खेलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. नीरज चोपड़ा ने जेवलिन थ्रो में गोल्ड मेडल जीता. यह ओलंपिक इतिहास का किसी भारतीय खिलाड़ी का एथलेटिक्स का पहला मेडल है. इससे पहले 2012 लंदन ओलंपिक में 6 मेडल मिले थे. वेटलिफ्टर मीराबाई चानू और रेसलर रवि दहिया ने सिल्वर जबकि बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन, शटलर पीवी सिंधु, रेसलर बजरंग पूनिया और भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने ब्रॉन्ज मेडल जीते.
पेसर जसप्रीत बुमराह की कहर बरपाती गेंदबाजी के सामने नॉटिंघम टेस्ट में इंग्लैंड की दूसरी पारी 303 रनों पर सिमटी. इससे भारत को जीत के लिए 209 रनों का लक्ष्य मिला. बुमराह ने दूसरी पारी में 5 विकेट झटके. वहीं पहली पारी में उन्होंने 4 विकेट अपने नाम किए थे. इंग्लैंड की ओर से कप्तान जो रूट ने शानदार शतकीय पारी खेली. उन्होंने 21वां टेस्ट शतक लगाते हुए 109 रनों का योगदान दिया. इंग्लैंड का दूसरा सर्वश्रेष्ठ स्कोर 32 रन रहा जो कि सैम करेन ने बनाया.
ट्रैक एंड फील्ड में भारत को ओलंपिक का पहला सोने का तमगा दिलाने वाले भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने अपने गोल्ड मेडल को ‘फ्लाइंग सिख’ से मशहूर महान धावक मिल्खा सिंह को समर्पित किया. मिल्खा का हाल में घातक कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद निधन हो गया था. ‘आर्मी मैन’ नीरज चोपड़ा ने जैवेलिन थ्रो (Javelin Throw) में गोल्ड मेडल जीतकर भारत को जश्न मनाने का मौका दिया. उन्होंने स्वर्ण पदक जीतने के बाद तिरंगा लेकर मैदान का चक्कर लगाया और इसका जश्न मनाया. नीरज ने पदक जीतने के बाद कहा, ‘मैं अपने इस गोल्ड मेडल को महान मिल्खा सिंह को समर्पित करता हूं. मैंने स्वर्ण पदक जीतने के बारे में सोचा तो नहीं था, लेकिन कुछ अलग करना चाहता था. मैं जानता था कि आज अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करूंगा. मैं ओलंपिक गेम्स का रिकॉर्ड तोड़ना चाहता था.’
इंग्लैंड के कप्तान जो रूट एक बार फिर भारतीय गेंदबाजों के लिए मुश्किल का सबब बन गए और पहली पारी में अर्धशतक लगाने के बाद जो रूट ने नॉटिंघम टेस्ट की दूसरी पारी में शतक ठोक दिया. जो रूट ने टेस्ट क्रिकेट में 21वीं बार सैकड़ा लगाया और भारत के खिलाफ उन्होंने छठा टेस्ट शतक ठोका. रूट ने 35 महीनों के बाद इंग्लैंड में टेस्ट शतक लगाया है. जो रूट ने मुश्किल मौके पर क्रीज पर कदम रखा था. खेल के चौथे दिन इंग्लैंड ने पले रॉरी बर्न्स का विकेट गंवाया और उसके बाद जैक क्रॉले भी बुमराह का शिकार बन गए. लेकिन इसके बाद रूट ने ना सिर्फ इंग्लैंड की पारी को संभाला बल्कि उन्होंने तेजी से रन बनाकर भारतीय गेंदबाजों को बैकफुट पर धकेला.
इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) में हिस्सा लेने वाले किसी भी अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी को पृथकवास (आइसोलेशन) में नहीं रहना होगा लेकिन फ्रेंचाइजी के सदस्यों और परिवारों के खिलाफ ‘बबल’ उल्लघंन के लिए अनुशासनात्मक कार्रवाई हो सकती है. अगले महीने यूएई में बहाल होने वाले टी20 टूर्नामेंट से पहले बीसीसीआई ने स्वास्थ्य और सुरक्षा प्रोटोकॉल जारी किया है. ‘बायो बबल’ में कई उल्लंघन के बाद अप्रैल में स्थगित हुई आईपीएल के मैच अब संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में 19 सितंबर से आयोजित होंगे जिसमें पहले मैच में चेन्नई सुपर किंग्स का सामना डिफेंडिंग चैम्पियन मुंबई इंडियंस से होगा. प्रोटोकॉल के अनुसार, ‘सभी फ्रेंचाइजी टीम के सदस्यों को कोविड-19 आरटी-पीसीआर परीक्षण कराना होगा जो उनकी फ्लाइट से 72 घंटे पहले का होना चाहिए. सभी को खुद को पृथकवास में रखना होगा और आरटी-पीसीआर परीक्षण के बाद अन्य से संपर्क से बचना होगा.’
टी20 वर्ल्ड कप के मुकाबले अक्टूबर-नवंबर में यूएई और ओमान में खेले जाने हैं. कुल 16 टीमें टूर्नामेंट में उतर रही हैं. ओमान की टीम भी क्वालिफायर में उतरेगी. मुकाबले 17 अक्टूबर से 14 नवंबर के बीच होने हैं. पहले वर्ल्ड कप का आयोजन भारत में होना था. लेकिन कोरोना के कारण इसे शिफ्ट कर दिया गया. हालांकि अभी भी टूर्नामेंट का आयोजक BCCI ही है. ओमान क्रिकेट एसोसिएशन ने वर्ल्ड कप की तैयारी के लिए भारत की दिग्गज घरेलू टीम मुंबई को आमंत्रित किया है. इस दौरान 3 वनडे और 3 टी20 के मुकाबले खेले जाने हैं.
टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाले रेसलर बजरंग पूनिया पर हरियाणा सरकार ने इनामों की बारिश की है. बजरंग ने फ्रीस्टाइल कुश्ती के 65 किलोग्राम वर्ग में कजाकस्तान के पहलवान नियाजबेकोव दौलत को एकतरफा अंदाज में हरा दिया. कांस्य पदक के मुकाबले में बजरंग ने एक भी अंक नहीं गंवाया और अपने पहले ही ओलंपिक में उन्होंने मेडल जीत सभी भारतीयों के चेहरे पर मुस्कान ला दी. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि बजरंग को हरियाणा सरकार 2.50 करोड़ रुपए की पुरस्कार राशि के साथ ही सरकारी नौकरी देगी. इसके अलावा उन्हें रियायती दरों पर एक प्लॉट देने का भी फैसला किया गया है. वहीं, मुख्यमंत्री ने बताया कि बरजंग के गांव खुडन में आधुनिक सुविधाओं से लैस इंडोर स्टेडियम भी बनाया जाएगा.
भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने टीम की फॉरवर्ड वंदना कटारिया और उनके परिवार के खिलाफ कथित जातिवादी अपशब्दों के इस्तेमाल को शर्मनाक करार दिया है. दरअसल, महिला टीम अर्जेंटीना से सेमीफाइनल मुकाबला 1-2 से हार गई थी. इसके बाद वंदना और उनके परिवार के खिलाफ हरिद्वार में कुछ लोगों ने जातिसूचक शब्द कहे थे. रानी ने कहा कि वंदना के पिता का हाल में ही निधन हुआ था लेकिन ओलंपिक की तैयारियां प्रभावित न हो. इसी वजह वंदना उनके अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हुई. उन्होंने आगे कहा कि मुझे वास्तव में बहुत बुरा लगा जब मैंने सुना कि उसके परिवार के साथ ऐसा हो रहा है. लोग एथलीट्स की भावनाओं और उनके द्वारा किए गए बलिदान को नहीं समझते हैं. मुझे नहीं पता कि लोग ऐसा क्यों करते हैं.
ओलंपिक महिला ‘मॉडर्न पेंटाथलॉन’ इवेंट के दौरान घोड़े को मारते हुए का वीडियो सामने आने के बाद जर्मनी की एक कोच को टोक्‍यो ओलंपिक से निलंबित कर दिया गया. टीवी फुटेज में साफ दिख रहा है कि कोच किम रेस्नर ‘सेंट बॉय’ नाम के घोड़े पर प्रहार कर रही है. यह घोड़ा इवेंट के दौरान शो जंपिंग दौर में बाड़ (रुकावट) को नहीं कूदा था, जिससे जर्मनी की खिलाड़ी अन्निका श्लेउ गोल्‍ड मेडल जीतने से चूक गई. अंतरराष्ट्रीय मॉडर्न पेंटाथलॉन संघ ने रेस्नर की वीडियो फुटेज की जांच के बाद कहा कि ऐसा लग रहा कि वह अपने मुक्के से घोड़े पर प्रहार कर रही है और उनका यह कदम नियमों का उल्लंघन माना जाएगा. रेस्नर का निलंबन केवल टोक्यो ओलंपिक के लिए लागू रहेगा.