आखिर चमगादड़ उल्टा ही क्यों लटके रहते हैं? इसके पीछे क्या है वजह, जानिये गहरा रहस्य…

नमस्कार मित्रों आप सभी लोगों का तह दिल से हमारे चैनल पर स्वागत है। चमगादड़ आसमान में उड़ने वाला एक स्तनधारी प्राणी है। ये पूरी तरह से निशाचर होते हैं और मुख्य रूप से पेड़ों की डाली या अंधेरी गुफाओं में उल्टा लटके रहते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिर ये उल्टा ही क्यों लटके रहते हैं? इसके पीछे क्या है वजह, तो आइए जानते है इनके पीछे क्या कारण है, जिसे जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे-चमगादड़ एकमात्र ऐसा स्तनधारी जीव है जो उड़ सकता है।

चमगादड़ रात में भी उड़ सकते हैं। दुनिया में चमगादड़ों की 1000 से भी अधिक प्रजातियां हैं। इनमें से कुछ प्रजातियों के चमगादड़ तो ऐसे भी होते हैं जो सिर्फ खून पीते हैं। इसी वजह से इन्हें ‘पिशाच चमगादड़’ कहा जाता है।

क्या आप जानते है चमगादड़ उल्टा क्यों लटके रहते हैं? जानिये गहरा रहस्य..

दुनियाभर में पाई जाने वाली चमगादड़ की प्रजातियों में अधिकांश चमगादड़ भूरे या काले रंग के होते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार, चमगादड़ आज से करीब 10 करोड़ साल पहले यानी डायनासोरों के समय में भी धरती पर रहा करते थे और आज भी धरती पर इनकी मौजूदगी है।

अब जानते है आखिर आखिर चमगादड़ उल्टा क्यों लटके रहते हैं? तो इसके पीछे वजह ये है कि उल्टा होने से ये बड़ी आसानी से उड़ान भर सकते हैं। दरअसल, बाकी पक्षियों की तरह चमगादड़ जमीन से उड़ान नहीं भर पाते, क्योंकि उनके पंख उतने उठान नहीं देते, जितनी उड़ने के लिए जरूरत होती है। इसके अलावा उनके पिछले पैर छोटे और अविकसित भी होते हैं, जिसकी वजह से वो दौड़ कर गति नहीं पकड़ पाते।

दरअसल, चमगादड़ उल्टा लटके हुए सोते रहते हैं। बीबीसी के अनुसार, इसकी वजह ये है कि इनके पैरों की नसें इस तरह व्यवस्थित हैं कि उनका वजन ही उनके पंजों को मजबूती के साथ पकड़ने में मदद करता है।

हमें उम्मीद है आप लोगों को हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी जरूर लगी होगी ऐसे ही जानकारी के लिए पोस्ट को लाइक और शेयर करें।

धन्यवाद दोस्तों।

Comments are closed.