हमने धूप समझी वो छाया निकली, हमने गाय समझी वो भैंस निकली। बेडा गर्क हो इन ब्यूटी पार्लरों का, हमने तो उसे लडकी समझा था, लेकिन वो तो लड़की की माँ निकली।

आखिर क्यों ये बंदा अपने आप को युगांडा का नागरिक फील कर रहा है - जानकर हंसी नहीं रुकेगी

टीपू जिम्मी से : यार.. मैं आज खुद को

युगांडा का नागरिक फील कर रहा हूं ”

जिम्मी : ऐसा क्यों.. भाई ?

टीपू : मेरे व्हाट्सएप पर.. आज एक मैसेज आया था,

कि अगर सच्चे भारतीय हो तो यह वीडियो देखो ”

पर मैंने नहीं देखा.. इसलिए ”

जिमी का हंसते-हंसते बुरा हाल हो गया।

पार्टी में मॉर्डन लड़की से हंस-हंस

कर बातें कर रहे उमेश के पास

बीवी आई और बोली : चलिए..

घर चल कर मैं आपकी चोट पर मरहम लगा दूं ”

उमेश : पर.. मुझे चोट कहां लगी है ?

बीवी : अभी हम.. घर भी कहां पहुंचे हैं ?

उमेश तब से इधर-उधर घूम रहा है।

बुढ़ापे में जब मेरे बच्चे कहेंगे कि…

“पापा.. अब आप प्रोपर्टी का बंटवारा कर दो ”

तब मैं कहूंगा : फेसबुक का एकाउंट छोटे का..

और व्हाट्सएप बड़े का “

Comments are closed.