धोखा मिला जब प्यार में हमे, ज़िन्दगी में उदासी छा गयी, सोचा था छोड़ देंगे प्यार करना, पर आज मोहल्ले में दूसरी आ गयी।

आखिर क्यों चौधरी का जवाब सुनकर, टीपू को चक्कर आ गए - पढ़कर हंसी नहीं रोक पाओगे

एक सभा में नेताजी चिल्ला-चिल्ला कर कह रहे थे :

“हर आदमी को.. हर चीज मिलनी चाहिए,

जो तुम्हें अच्छा लगे ले लो.. भूख लगे तो दुकान लूट लो,

अगर ठंड लगे तो दुकान में से जो सबसे अच्छा कोट हो वो उठा लो,

भाषण देने के बाद वो मंच से उतरे और फिर चिल्लाए :

” अबे मेरी साइकिल.. कौन उठा ले गया बे ?

एक बार चौधरी घर के बाहर बैठकर बीड़ी पी रहा था।

तभी वहां टीपू आया और बोला : चाचा चौधरी.. बीड़ी मत पिया कर,

बीड़ी पीने से आदमी धीरे-धीरे मर जाता है ”

चौधरी ने जोर का सुट्टा मारा और बोले :

” हमें कौन सी जल्दी है मरने की, धीरे-धीरे ही मरेंगे ”

टीपू वहीं चक्कर खाकर गिर पड़ा।

हद तो तब हो गई जब सवेरे-सवेरे,

घर के बाहर से भिखारी की आवाज आई :

” लाओ बेटा.. वैलेंटाइन डे का आटा ले आओ “

दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई तो लाइक करें, शेयर करें अपने दोस्तों के साथ व्हाट्सएप और फेसबुक पर और हमें फॉलो जरूर करें.. शुक्रिया

Comments are closed.