मेरी प्रेम कहानी का भी क्या एंडिंग था, मेरी प्रेम कहानी का भी क्या एंडिंग था, मैंने प्रोपोज़ किया था जिस SMS से, कमबख्त वो उसकी शादी तक पेंडिंग था

 

जो कभी पूरा बाजार खरीदने की ताकत रखते थे

  1. इसांन को अपने वक़्त और धन पर कभी घमंड नही करना चाहिए।

क्योंकि,

वक़्त तो उन नोटों का भी नहीं हुआ,

जो कभी पूरा बाजार खरीदने की ताकत रखते थे…

2. कुछ लोग पसंद करने लगे हैं अलफाज मेरे

मतलब मोहबत में बर्बाद ओर भी हुए हैं

 

3. ख्वाहिशें ज्यादा नहीं मेरी

ऐ जिन्दगी तुझसे …

बस …

अगला लम्हा पिछले से…..

बेहतरीन हो ….

4. मोहब्बत के फूल तेरे नाम करते हैं तेरी मुस्कुराहटों को सलाम करते हैं बन जाये तेरी ज़िंदगी खुशियों का घर ये दुआ हम तुम्हारे लिए सुबह शाम करते हैं

 

5. हम तो मज़ाक में भी किसी का दिल दुखाने से डरते हैं , पता नहीं लोग कैसे सोच समझ कर दिलों से खेल जाते हैं

6. जब किसी से दिल लग जाता है न..

फिर कहि दिल भी नही लगता है

Comments are closed.