मुक़द्दर में रात को नींद नहीं तो क्या, मुक़द्दर में रात को नींद नहीं तो क्या, हम भी मुक़द्दर को चूना लगाते हैं, और दिन में ही सो जाते हैं।

 

शुभ प्रभात,

ताज़ी हवा में फूलो की महक हो,

पहली किरण में चिडियों की चहक हो,

जब भी खोलो तुम अपनी पलके,

उन पलकों में बस खुशियों की झलक हो|

शुभ प्रभात : नयी सुबह  खुशीयों का घेरा,  सूरज की किरणें, चिड़ियों का बसेरा,पूरा पढ़े

Google

शुभ प्रभात,

नयी सुबह खुशीयों का घेरा,

सूरज की किरणें, चिड़ियों का बसेरा,

ऊपर से आपका ये खिलता हुआ चेहरा,

मुबारक हो आपको ये सुहाना सवेरा,

Google

शुभ प्रभात,

सपनो की दुनिया को कह दें बाय-बाय

हुई है सुबह चलो सब जाग जाएं…

सूरज को करें वेलकम…..तैयार हो जाएं…

चलो इस दिन की खुशियाँ मनाएं!

Google

शुभ प्रभात,

हर सुबह एक नयी शुरुआत है,

एक नया आशीर्वाद,

एक नयी आशा।

ये एक परफेक्ट दिन है,

क्योंकि ये भगवान का उपहार है।

Comments are closed.