ये जो मिलाते फिरते हो तुम हर किसी से हाथ ऐसा न हो कि धोना पड़े जिंदगी से हाथ

टीपू : अरे यार.. माल से याद आया, भाभी कैसी हैं - खतरनाक जोक्स

उमेश लंपट से ( फोन पर ) मैं इस टाइम Stage-3 में हूं,

पहली स्टेज में बर्तन माँजे,

दूसरी स्टेज में खाना बनाया,

तीसरी स्टेज में कपड़े धो रहा हूं ”

और तुम ?

लंपट : मैंने बेलन से मार खा ली.. मगर काम नहीं किया,

भाई कोरोना तो थोड़े दिन में चला जाएगा..

मगर बीवी को पता चल गया कि इसको ये सब आता है,

तो जिंदगी भर करना पड़ेगा ”

जिम्मी और टीपू साथ में कहीं जा रहे थे।

एक लड़की पास से निकली।

जिम्मी बोला : वाह यार.. क्या माल है ?

टीपू : अरे यार.. माल से याद आया, भाभी कैसी हैं ?

जिम्मी ने टीपू को घसीट-घसीट के मारा।

दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई तो लाइक करें, शेयर करें अपने दोस्तों के साथ व्हाट्सएप और फेसबुक पर और हमें फॉलो जरूर करें.. शुक्रिया

Comments are closed.