मिल बैठ के वो हंसना वो रोना चला गया अब तो कोई ये कह दे करोना चला गया

 

हज़ारों दिल टूट जाते हैं एक दिल की हिफाज़त में

  1. मेरे नजदीक आ के देख मेरे अहसास की शिद्दत,

ये दिल कितना धड़कता है,,तेरा नाम आने पर…!

2. ख्वाहिशें आज भी “खत” लिखती है हमे …..

बेखबर इस बात से है कि, जिंदगी अब अपने “पते” पर नही रहती….

 

3. यकीन जानो ये महोब्बत इतनी भी आसान नहीं…..

हज़ारों दिल टूट जाते हैं एक दिल की हिफाज़त में…….

4. इंतज़ार रहता है हर शाम तेरा,

राते कटती है लेकर नाम तेरा,

मुद्दत से बैठा हूँ पाल के ये आस,

कभी तो आएगा कोई पैग़ाम तेरा !!

 

5. न महीनों की गिनती है न सालों का हिसाब है,,,,

मोहब्बत आज भी तुम से बेइंतहा बेहिसाब है…

6. ना ज़ख्म भरे,

ना शराब सहारा हुई..!!

ना वो वापस लौटीं,

ना मोहब्बत दोबारा हुई

Comments are closed.