2011 के विश्व कप में इस खिलाड़ी ने खून की उल्टियां होने के बावजूद नहीं छोड़ा मैच, विश्व कप प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट बनने के साथ जिताया विश्वकप..

नमस्कार दोस्तों 2011 के विश्व कप को कौन भूल सकता है, लेकिन उस विश्व कप के दौरान भारत के एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी के साथ एक अनहोनी हुयी थी। ये अनहोनी कोई और नही बल्कि कैन्सर थी।

 

खून की उल्टियां होने के बावजूद नहीं छोड़ा मैच, विश्व कप जीत कर किया देश को गौरवांतित

विश्व कप के दौरान भारत के एक मात्र खिलाड़ी युवाराज सिंह ही थे, जो की अपनी बल्लेबाज़ी अपनी गेंदबाज़ी अपनी फील्डिंग सब से पूरा प्रयास कर रहे थे। यही वजह है कि भारत ने 2011 का विश्व कप अपने नाम किया।

 

युवराज सिंह को कैन्सर था, ये बात किसी की पता नहीं थी। युवराज का विश्व कप का फॉर्म काबिल ए तारीफ था। एक मैच के दौरान युवराज को खून की उल्टियां होने लगी लेकिन युवराज सिंह बैटिंग करने में पीच नहीं हटे और पूरा मैच खेले।

 

युवराज सिंह ने 2011 के विश्व कप में अपने 9 पारी में 365 रन व 15 विकेट लेकर भारत को विष्व कप में विजय दिलायी थी। हालांकि इसका श्रेय कोई और ले गया लेकिन इस श्रेय का असली हकदार युवराज सिंह थे। युवराज को विश्व कप प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट चुना गया।

 

आपके विचार से विश्व कप जीताने का श्रेय किसे जाना चाहिये हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के जरूर बतायें। हमारे चैनल को फॉलो करना ना भूलें। धन्यवाद।

Comments are closed.