सर पर लगी 90 मील प्रति घंटे की बाउंसर फिर भी अपनी माँ के लिए दोबारा खड़ा हो गया ये बल्लेबाज, अब गया हज करने

आईसीसी वर्ल्डकप 2019 में खेले गए इंग्लैंड और अफगानिस्तान के बीच मैच में इंग्लैंड के तेज गेंदबाज मार्क वुड की 90 मील प्रति घंटे की रफ्तार की गेंद अफगानिस्तान के बल्लेबाज हशमतुल्लाह शहीदी के हेलमेट से जा टकराई, जिसके बाद वह जमीन पर गिर पड़े और ऐसा लगा कि उन्हें रिटायर्ड हर्ट होना पड़ेगा, लेकिन शहीदी ने नया हेलमेट मंगाते हुए खेलना जारी रखा। इस मैच में हशमतुल्लाह शहीदी ने 100 गेंदों में 5 चौकों और 2 छक्कों की मदद 76 रन की जोरदार पारी खेली। इस मैच में इंग्लैंड ने इयोन मोर्गन की 17 छक्कों से सजी 148 रन की तूफानी पारी की मदद से 50 ओवर में 397/6 का स्कोर बनाने के बाद अफगानिस्तान को 50 ओवर में 247/8 के स्कोर पर समेटते हुए 150 रन से शानदार जीत दर्ज की थी।

वह खिलाड़ी जिसके सर पर बाउंसर लगने के बावजूद अपनी मां के लिए जारी रखी बैटिंग, अब गया हज पर

मैच के बाद उन्होंने बाउंसर लगने के बावजूद खेलने की वजह का खुलासा करते हुए हशमतुल्लाह शहीदी ने कहा, ‘मेरी मां की वजह से बाउंसर लगने के बाद मैं जल्दी खड़ा हो गया।’ ‘मैंने पिछले साल अपने पिता को खोया था, इसलिए मैं मां को दुखी नहीं करना चाहता था। मेरा पूरा परिवार मैच देख रहा था, यहां तक कि मेरे बड़े भाई मैदान में मैच देख रहे थे। मैं उन्हें अपने लिए दुखी नहीं करना चाहता था।’

7 फरवरी 2020 को हशमतुल्लाह शहीदी ने अपने ट्विटर अकाउंट से अपनी एक तस्वीर पोस्ट की है, जिसमें वह मक्का शहर के काबा शरीफ के सामने खड़े हुए नजर आ रहे हैं। अपनी इस तस्वीर के साथ उन्होंने लिखा है कि ‘अस्सलाम वालेकुम सब, जुम्मा मुबारक। मुझे अपनी दुआओं में मत भूलो, मैं पवित्र मक्का में तुमको नहीं भूल सकता, अल्लाह हम सब पर कृपा करे।

दोस्तों, अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो लाइक और कमेंट अवश्य करें।