जलाने से पहले मृत व्यक्ति के के सिर पर डंडा क्यूँ मारा जाता है? कारण बेहद रोचक

आज के इस आर्टिकल में हम आपको एक ऐसे रहस्य के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में बहुत कम लोग ही जानते होंगे। क्या आपने कभी सोचा है कि हिन्दू धर्म मे मृत व्यक्ति के शव को जलाने के दौरान उसके सिर पे डंडा क्यों मारते हैं? अगर नही तो आज जो रहस्य हम आपको बताने जा रहे हैं, उसे जान कर आप दंग रह जाएंगे। तो आइये बिना देर किए इस रहस्य से पर्दा उठाते हैं।
क्या है कपाल क्रिया ?

शव को जलाने से पहले क्यों मारा जाता है सिर पर डंडा, रहस्य जानकर हैरान रह जाएंगे आप

 
 

हिन्दू धर्म मे कपाल क्रिया के बिना किसी भी किसी भी इंसान का अंतिम संस्कार का कार्य पूरा नही होता है। ये क्रिया देखे में इतनी भयभीत करने वाली वाली होती है कि देखने वालों का दिल दहल जाता है। बहुत से ऐसे लोग है जिनके दिमाग मे ये बात जरूर आती होगी कि ये कपाल क्रिया करना इतना जरूरी क्यों है?
शव के सिर पर क्यों मारते हैं डंडा ?

 
 

हिन्दू धर्म मे शव को जलाते हुए मृत व्यक्ति के सिर पर डंडा मारा जाता है। लेकिन अब सवाल यह है कि आखिर ऐसी क्या वजह है जिसकी वजह से सिर पर डंडा मारा जाता है? आज इसके पीछे का रहस्य हम जो आपको बताने जा रहे हैं, उस रहस्य को बहुत कम ही लोग जानते होंगे।
इसके पीछे का कारण

 
 

मृत व्यक्ति के के सिर पर डंडा इसलिए मारा जाता है, ताकि अगर मृत व्यक्ति के पास किसी तरह का तंत्र विद्या अथवा ज्ञान होगा, तो कोई तांत्रिक इन विद्या को चुरा न ले और मृत व्यक्ति की आत्मा को अपने वश में न कर ले। क्यों कि संभव है कि कोई तांत्रिक उसकी आत्मा को अपने वश में कर लेने के बाद उसके द्वारा किसी भी बुरे कार्यों को अंजाम दे सकता है।