इस आदमी ने अपने 3 बेटों को बना दिया क्रिकेटर, कभी रणजी में नहीं मिला था मौका

दोस्तों जैसा कि आप सभी को पता है कि वर्तमान समय में ज्यादातर लोगों को सपना होता है कि वह अपने देश के लिए कुछ कर सके।

 

भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल होकर अपने देश का नाम रोशन करने का सपना रखने वाले ऐसे बहुत से लोग होंगे लेकिन खुद का सपना पूरा नहीं हुआ तो अपने बेटों को उस काबिल बनाना हर किसी के बस की बात नहीं।आज की पार्टी कल में हम आप लोगों को एक ऐसे शख्स के बारे में हम आप लोगों को बताने वाले जिसने रणजी में टूटे सपने को पूरा करने के लिए अपने तीन बेटों को क्रिकेटर बना दिया है।

 

आज के इस आर्टिकल में हम आप लोगों को मुंबई के रहने वाले नौशाद खान के बारे में बता रहे हैं। नौशाद खान को मुंबई के रणजी टीम में कई बार शामिल किया गया लेकिन उन्हें कभी खेलने का मौका नहीं दिया। निराश होकर नौशाद खान ने ठान लिया था कि वह जो सपना खुद हासिल नहीं कर पाए थे अपने बच्चों के जरिए उस सपने को पूरा करेंगे।

क्रिकेट जगत नौशाद खान के बेटे मचा रहे हैं धमाल-

नौशाद खान की कड़ी मेहनत का ही नतीजा है कि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की तरफ से खेलने वाले सरफराज खान इन दिनों रणजी ट्रॉफी में धमाल मचा रहे हैं।

 

सरफराज खान ने मुंबई की तरफ से तिहरा शतक और फिर एक हफ्ते के अंदर दोहरा शतक लगाकर सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा है। नौशाद खान के दूसरे बेटे मोईन खान क्लब लेवल पर क्रिकेट खेलते हैं। जबकि नौशाद खान के तीसरे और सबसे छोटे बेटे मुशीर फिलहाल मुंबई की अंडर-19 टीम के लिए कूच बिहार ट्रॉफी में खेल रहे हैं।