अपने अंतिम दिनों में बेहद कमजोर हो गए थे बॉलीवुड के ये 4 कलाकार, नं.1 की हालत देखकर रोना आ जाएगा

मृत्यु एक सत्य है जिसे सभी को स्वीकार करना होगा। चाहे वह आम आदमी हो या कोई सेलिब्रिटी मौत किसी के साथ भेदभाव नहीं करती है। आज के लेख में, हम उन फ़िल्मी सितारों की चर्चा करेंगे जिनकी हालत मरने से पहले बहुत दयनीय थी। मृत्यु से पहले, ये तारे हड्डी की संरचना बन गए थे। इस लेख को अपने दोस्तों के साथ साझा करें ताकि उन्हें भी रोजाना इसी तरह के समाचार अपडेट मिलते रहें।

मरने से पहले हड्डियों का ढांचा बनकर रह गए थे यह 4 कलाकार, नं.1 की हालत देखकर रोना आ जाएगा

 
 

4. रामी रेड्डी
रामी रेड्डी को हमेशा बॉलीवुड में एक क्रूर खलनायक के रूप में याद किया जाएगा। उन्होंने हिंदी फिल्मों के साथ-साथ दक्षिण की फिल्मों में भी प्रसिद्धि पाई थी। बाबा नायक और उनके द्वारा निभाए गए कर्नल चिकारा के किरदार को कोई कैसे भूल सकता है। रामी रेड्डी की मृत्यु के कारण लीवर कैंसर हुआ। जब उन्हें आखिरी दिनों में एक तेलुगु अवार्ड शो में देखा गया, तो उनकी हालत देखकर हर कोई हैरान रह गया। उनके शरीर को हड्डी की संरचना के रूप में छोड़ दिया गया था। 14 अप्रैल 2011 को रामी ने दुनिया को अलविदा कह दिया।

 
 

3. गेविन पैकर्ड
सत्तर और अस्सी के दशक में बॉलीवुड में बॉडीबिल्डिंग की अवधारणा लाने वाले गेविन पैकर्ड पहले स्टार थे। उन्होंने संजय दत्त, सुनील शेट्टी और सलमान खान के बॉडीगार्ड शेरा को बॉडी बिल्डिंग की ट्रेनिंग भी दी थी। अपनी पत्नी से तलाक के बाद, वह बहुत अकेला हो गया और बॉलीवुड से दूर रहा। 18 मई 2012 को, इस खूंखार खलनायक ने दुनिया से अलविदा ले लिया। उच्च तनाव (श्वसन विकार) के कारण उनकी मृत्यु हो गई। फिटनेस आइकन गेविन पैकर्ड अपनी मृत्यु के अंतिम दिनों में बेहद कमजोर दिखने लगे थे।

 
 

2. विनोद खन्ना
बॉलीवुड में विनोद खन्ना के अमूल्य योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकता। यह सुपरस्टार स्टार अपने आखिरी दिनों में बेहद कमजोर हो गया था। मुंबई के एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। विनोद खन्ना ब्लड कैंसर से पीड़ित थे जिसके कारण उनका शरीर हड्डियों का ढांचा बन गया था। 70 साल की उम्र में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया।

 
 

1. निशा नूर
80 के दशक में निशा नूर दक्षिण फिल्म उद्योग का एक चमकता सितारा थी। रजनीकांत और कमल हासन जैसे बड़े सितारे भी उनके साथ काम करना चाहते थे। बाद में एक निर्माता ने उसे वेश्यावृत्ति के पेशे में धकेल दिया जिसे वह कभी भी बाहर नहीं निकाल सकती थी। वह नागौर दरगाह के पास बेहद खराब हालत में पाया गया था। उसके शरीर पर कीड़े रेंग रहे थे। अस्पताल में भर्ती होने पर पता चला कि वह एड्स का शिकार हो गई थी। साल 2007 में निशा नूर ने दुनिया को अलविदा कह दिया। उसकी हालत देख हर कोई रो रहा था।

Comments are closed.