झूठी निकली सोनभद्र में 3000 टन सोना मिलने की बात, भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (GSI) ने बताई पूरी सच्चाई

झूठी निकली सोनभद्र में 3000 टन सोना मिलने की बात, हकीकत जानकर नहीं होगा यकीन

 
 

पिछले कुछ दिनों से सोनभद्र में करीब 3000 टन सोना मिलने की बात पूरे देश भर में काफी ज्यादा चर्चा बटोर रही है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि सोनभद्र में इतनी मात्रा में सोने का कोई भी भंडार मौजूद नहीं है। हालांकि जिस जगह पर इतनी बड़ी मात्रा में सोना मिलने का अनुमान लगाया गया था, वहां पर अन्य संसाधन मौजूद हैं। लेकिन सोने को लेकर मिली खबर से लोगों को सिर्फ निराशा हुई है।

 
 

जियोलॉजिकल सर्वे आफ इंडिया के महानिदेशक एम श्रीधर ने स्वयं इस बात की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि भले ही सोनभद्र में 52,806 टन के संसाधन मौजूद हैं। लेकिन उन संसाधनों में 3000 टन सोना नहीं है। लेकिन इन संसाधनों से कुल 160 किलोग्राम के बराबर का सोना निकाला जा सकता है। उन्होंने कहा कि सोनभद्र के खनिज अधिकारी का इतना भारी मात्रा में सोना मिलने का दावा बिल्कुल गलत है।

 
 

गौरतलब है कि इतनी बड़ी मात्रा में सोने का भंडार मिलने की खबर के बाद से ही भारत को एक बार फिर से सोने की चिड़िया कहा जाने लगा था। अनुमान लगाया जा रहा था कि इतनी भारी मात्रा में सोना मिलने के बाद देश की अर्थव्यवस्था रफ्तार पकड़ सकती है। लेकिन जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने इस विषय पर पूरा स्पष्टीकरण दे दिया है।
दोस्तों क्या सोनभद्र में इतनी कम मात्रा में सोना मिलने पर आपको भी निराशा हुई है? आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। साथ ही हमारे चैनल को फॉलो करें।