यूरिन इन्फेक्शन से परेशान हैं तो आजमाएं ये घरेलु उपाय.

बार-बार पेशाब आना, पेशाब में जलन होना यूरिनरी इंफेक्शन का कारण है। ये इन्फेक्शन मर्द और औरत किसी को भी हो सकता है। यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन ऐसा संक्रमण है, जो हमारे यूरिनरी सिस्टम के किसी भी भाग में हो सकता है। जैसे गुर्दे, मूत्रवाहिनी, मूत्राशय और मूत्रमार्ग। यूरिन इन्फेक्शन के कई कारण हो सकते हैं, जैसे शरीर की सफाई का ध्यान नहीं रखना, लंबे समय तक पेशाब रोके रखना, डायबिटीज, गर्भावस्था, इन्फेक्शन के मुख्य कारण है।

 

credit: third party image reference

 

  • यूरिनरी इंफेक्शन के लक्षण:
  • बार-बार पेशाब करने की इच्छा होना मूत्र त्याग के समय जलन होना बार-बार कम मात्रा में पेशाब का आना मूत्र का रंग अलग और धुंधला सा होना मूत्र का लाल, चमकदार गुलाबी और भूरा होना- जैसे उसमें खून हो मूत्र से तीव्र दुर्गंध आना.
  • आप भी अपने में इस तरह के लक्षण महसूस कर रहे हैं तो तुरंत अपना उपचार करें। कुछ घरेलू उपायों से आप इस समस्या के लक्षणों को कम कर सकते हैं। लेकिन, अगर आपको बहुत अधिक परेशानी हो रही है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें। हम यूरिनरी इंफेक्शन के घरेलू उपायों के बारे में आपको बता रहे हैं जिन्हें अपना कर आप इस समस्या का समाधान खोज सकते हैं।
  • हेल्दी डाइट लें और अधिक पानी का सेवन करें:
  • यूरिन इंफेक्शन से बचना है तो सबसे पहले अपनी डाइट सुधारें। अपने खानपान का ध्यान रखें। पानी ज्यादा से ज्यादा पीएं। अधिक पानी पीने से शरीर से हानिकारक तत्व बाहर निकल जाते हैं। जिससे यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन को जल्दी ठीक होने में मदद मिलती है। आप अन्य पेय पदार्थ जैसे नारियल पानी या ताजा जूस भी पी सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे अल्कोहल, कार्बोनेटेड ड्रिंक और कैफीन युक्त पेय पदार्थों के सेवन से बचे। इन्हें पीने से इस दौरान होने वाले लक्षण बढ़ सकते हैं।
  • लहसुन का इस्तेमाल करें:
  • लहसुन इम्युन पावर को बढ़ता है, साथ ही इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं। यही नहीं, लहसुन में मौजूद कंपाउंडस में से एक ‘एलिसिन’ में भी रोगाणुरोधी गुण होते हैं, जो बैक्टीरिया दूर या कम करने में प्रभावी है।
  • चीनी का इस्तेमाल कम करें:
  • जो लोग अधिक चीनी या मीठी चीजों का सेवन करते हैं, उन्हें इंफेक्शन होने की संभावना अधिक रहती है। इसलिए अधिक चीनी या मिठाईयां खाने से बचे।
  • क्रैनबेरी जूस
  • क्रैनबेरी जूस में एक एक्टिव तत्व होता है जिसे (Proanthocyanidins) कहा जाता है। यह तत्व मूत्र मार्ग में मौजूद बैक्टीरिया को हटाने में मदद करता है। जिससे यूरिन की समस्या को कम करने में मदद मिलती है।

Comments are closed.