महाभारत के युद्ध में कुल कितने लोग मरे थे?

credit: third party image reference

 

  • महाभारत की कथा जितनी बड़ी है, उतनी ही रोचक भी है। शास्त्रों में महाभारत को पांचवां वेद भी कहा गया है। इसके रचयिता महर्षि कृष्णद्वैपायन वेदव्यास हैं। महर्षि वेदव्यास ने इस ग्रंथ के बारे में स्वयं कहा है- यन्नेहास्ति न कुत्रचित्। अर्थात जिस विषय की चर्चा इस ग्रंथ में नहीं है, उसकी चर्चा कहीं भी उपलब्ध नहीं है। इस ग्रंथ में कुल एक लाख श्लोक हैं, इसलिए इसे शतसाहस्त्री संहिता भी कहते हैं। आज हम आपको इस ग्रंथ की कुछ रोचक बातें बता रहे हैं, जो इस प्रकार हैं-

 

credit: third party image reference

 

  • महाभारत के युद्ध में कितने योद्धा मारे गए थे? महाभारत के स्त्री पर्व के एक प्रसंग में धृतराष्ट्र युधिष्ठिर से युद्ध में मारे गए योद्धाओं की संख्या पूछते हैं, तब युधिष्ठिर कहते हैं कि इस युद्ध में 1 अरब 66 करोड़ 20 हजार वीर मारे गए हैं। इनके अलावा 24 हजार 165 वीरों का पता नहीं है। युधिष्ठिर बताते हैं कि जो वीर क्षत्रिय धर्म निभाते हुए मारे गए हैं, वे ब्रह्मलोक में गए हैं। जो युद्ध से भागते हुए मारे गए हैं, वे यक्षलोक में गए हैं। जो वीर ईमानदारी से लड़ते हुए मारे गए हैं, वे अन्य पुण्यलोकों में गए हैं। जब धृतराष्ट्र ने युधिष्ठिर से पूछा कि तुम्हारे पास ऐसी कौन सी शक्ति है, जिससे तुम ये सब बातें जानते हो, तो युधिष्ठिर ने बताया कि वनवास के दौरान देवर्षि लोमश ने मुझे जो दिव्य दृष्टि दी थी, उसी की सहायता से यह गुप्त बातें मुझे पता चली हैं,
  • को अगर हम सही से समझने बैंटे तो हमें बहुत साल लग सकते हैं, ये विचित्र कथा रहस्यों से ही भरी है। इसमें उस युद्ध का वर्णन है जिससे लगभग एक युग ही समाप्ति की कगार पर आ गया था। दो वैभवशाली राजसी परिवारों को जिसमें धर्म और अधर्म के साथी थे उनके बीच घमासान युद्ध हुआ था जिसमें अरबों योद्धा मारे गये थे।

Comments are closed.