जानिए उत्तर प्रदेश के किस जिले में सेकड़ो टन सोना जमीन में दबे होने का पता चला है !

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में सेकड़ो टन सोना जमीन में दबे होने का पता चला है बताया जा रहा है की राज्य सरकार को काफी समय पहले ही इसकी जानकारी मिल चुकी थी,

यहाँ हज़ारो टन सोना है तभी तो नाम सोनभद्र है

सोने की तलाश में जिओलॉजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया की टीम पिछले पन्द्रहा साल से इस मामले में सोनभद्र में काम कर रही थी आठ साल पहले टीम ने सोने की खजाने की पुष्टि कर दी थी यूपी सरकार ने अब इसी सोने की खुदाई करने के मकसद से इस टीले को बेचने के लिए नीलामी की प्रक्रिया शुरू कर दी,

राज्य के खनिज विभाग ने इसकी पुष्टि की और जल्द ही विभाग इस सोने को निकलने के लिए खुदाई शुरू कर देगा सोनभद्र जिले की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक ये भारत के एकमात्र जिले है जिसकी सीमा चार राज्यों से मिलती है ये राज्य है मध्य्प्रदेश छत्तीसगढ़ झारखण्ड और बिहार ये उत्तर प्रदेश के सुदूर दक्षिड़ में बसा और एक औद्योगिक छेत्र है,

यहाँ चुना पत्थर कोयला सोना जैसे बहुत सारे खनिज पदार्थ उपलब्ध है सोनभद्र को ऊर्जा की राजधानी कहा जाता है क्युकी यहाँ बिजली संयंत्र बड़ी संख्या में है सोनभद्र का नाम सोनभद्र क्यों पड़ा और क्या सोने से इसका कोई ताल्लुक है इस सवाल पर बनारस हिन्दू विश्विद्यालय के प्राचीन इतिहास विभाग के प्रोफेसर डॉक्टर प्रभाकर अध्याय ने बताया की सोनभद्र का नाम सोन नदी की वजह से पड़ा है

Comments are closed.