व्हाट्सएप ने सरकार को दी प्राइवेसी पॉलिसी की जानकारी, कहा- पहले जैसी हैं सेवा की शर्तें

 तत्काल संदेश भेजने वाले सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप ने अपनी विवादास्पद गोपनीयता नीति को आगे बढ़ाने के फैसले की घोषणा के कुछ ही घंटे बाद शुक्रवार को कहा कि उसने व्यक्तिगत बातचीत की गोपनीयता की सुरक्षा को लेकर अपनी प्रतिबद्धता से भारत सरकार को अवगत करा दिया है।

व्हाट्सएप ने पिछले महीने जारी की गई अपनी नई गोपनीयता नीति अपडेट में कहा था कि वह उपयोगकर्ताओं के डाटा को मूल कंपनी फेसबुक व समूह की अन्य कंपनियों के साथ साझा कर सकती है। इसके बाद कंपनी विवादों में घिर गई। भारत सरकार ने भी व्हाट्सएप को तलब कर सवाल पूछे।

इसके बाद उपयोगकर्ता तेजी से व्हाट्सएप को छोड़ प्रतिस्पर्धी एप टेलीग्राम और सिग्नल को अपनाने लगे। इसके चलते मजबूर होकर व्हाट्सएप ने नई नीति पर अमल को मई तक के लिए टाल दिया था। हालांकि, अब कंपनी ने शुक्रवार को कहा कि वह नई नीति पर अमल करने की दिशा में आगे बढ़ रही है।

व्हट्सएप ने एक बयान में कहा, ‘‘भ्रामक सूचनाओं व उपयोगकर्ताओं की प्रतिक्रिया के आधार पर हमने व्हाट्सएप की नई सेवा व गोपनीयता नीति को स्वीकार करने की समय सीमा को 15 मई तक के लिए टाल दिया है। इस बीच हम सरकार के साथ संवाद करेंगे। हम सरकार के सवालों का जवाब देने का अवसर पाकर आभारी हैं।’

व्हाट्सएप ने कहा कि उसने सरकार को व्यक्तिगत बातचीत की गोपनीयता को लेकर अपनी प्रतिबद्धता से अवगत करा दिया है। शुक्रवार को एक ब्लॉग पोस्ट में व्हाट्सएप ने कहा कि आने वाले हफ्तों में एप में एक बैनर प्रदर्शित किया जाएगा, जो अधिक जानकारी प्रदान करेगा। यूजर इसे अपनी गति से पढ़ सकते हैं।

हालांकि, कंपनी ने स्पष्ट किया कि उसने हालिया विवादित नीति में कोई बदलाव नहीं किया है। उसने कहा, ‘‘हमने इसे नया रूप दिया है, लेकिन सेवा की शर्तें और गोपनीयता नीति पहले जैसी हैं।’’

Comments are closed.